BREAKING NEWS

जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, सेना कैंप में घुस रहे 2 आतंकी ढेर, 3 जवान शहीद◾आज का राशिफल (11 अगस्त 2022)◾हर घर तिरंगा अभियान : शौर्य चक्र से सम्मानित सिपाही औरंगजेब की मां ने अपने घर पर फहराया 'तिरंगा'◾दिल का दौरा पड़ने के बाद राजू श्रीवास्तव एम्स में भर्ती , वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखे गए◾माकपा ने 'मुफ्त उपहार' वाले बयान को लेकर PM मोदी पर निशाना साधा◾कांग्रेस ने महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में संजय राठौर को शामिल किए जाने को लेकर BJP पर साधा निशाना◾High Court में जनहित याचिका : याददाश्त खो चुके हैं सत्येंद्र जैन, विधानसभा और मंत्रिमंडल से अयोग्य घोषित किया जाए◾केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देने का किया ऐलान ◾ISRO ने गगनयान से जुड़ा LEM परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया◾Corbevax Corona Vaccine : केंद्र सरकार ने वयस्कों को कॉर्बेवैक्स की बूस्टर खुराक देने को दी मंजूरी ◾भारत के अतीत, वर्तमान के लिए प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को झलकाता है तिरंगा : PM मोदी◾ हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾

रूस VS यूक्रेन : पुतिन की सेना ने यूरोप के सबसे बड़े न्यूक्लियर प्लांट पर किया हमला, धुआं-धुआं हुआ शहर

रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध का आज नौवां दिन है और आज भी रूसी सेना यूक्रेन पर कई हमले कर रही है। इस बीच यूक्रेन के विदेश मंत्री दिमित्रो कुलेबा ने कहा कि रूसी हमले में ज़ापोरीज्ज्या परमाणु ऊर्जा संयंत्र में शुक्रवार को आग लग गई। उन्होंने ट्वीट किया, रूसी सेना यूरोप के सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा संयंत्र, ज़ापोरीज्ज्या एनपीपी पर हर तरफ से गोलीबारी कर रही है। आग पहले ही भड़क चुकी है। अगर इसे रोका नहीं गया, तो यह चर्नोबिल से 10 गुना बड़ा धमाका होगा। रूसियों को तुरंत आग को बंद करना चाहिए, अग्निशामकों को अनुमति देना चाहिए। एनरगोडार दिमित्रो ओरलोव के मेयर ने भी आग लगने की पुष्टि की।

ब्रिटेन के पीएम ने यूएनएससी में बुलाई आपात बैठक 

ज़ापोरीज्ज्या के मेयर ने कहा, यूरोप में सबसे बड़े परमाणु ऊर्जा संयंत्र की इमारतों और ब्लॉकों पर दुश्मन द्वारा भारी गोलाबारी के परिणामस्वरूप, ज़ापोरीज्ज्या परमाणु ऊर्जा संयंत्र में आग लग गई है। उन्होंने इसे विश्व सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए कहा, मैं इसे तुरंत रोकने की मांग करता हूं। ज़ापोरीज्ज्या पावर प्लांट पर गोलाबारी बंद करो। ज़ापोरीज्ज्या न्यूक्लियर प्लांट पर आग लगने के बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में आपात बैठक बुलाई है। रूस की सेना ने ज़ापोरीज्ज्या के पावर प्लांट के अलावा अन्य शहर मरियूपोल पर भी कई हमले किए है।  

दोनों देशों के बीच मानवीय गलियारा बनाने पर हुई सहमति 

यूक्रेन और रूस के प्रतिनिधिमंडल के बीच हुई दूसरी वार्ता में मास्को और कीव में नागरिक आबादी को निकालने के लिए मानवीय गलियारों के संयुक्त प्रावधान और यूक्रेन में शत्रुता वाले स्थानों पर दवाओं और भोजन की डिलीवरी के लिए सहमति बनी है। दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल के बीच की वार्ता के दौरान कई मुद्दों पर सहमति बनी। आरटी के मुताबिक, अस्थायी युद्धविराम की संभावना है। उन क्षेत्रों से आबादी खाली कराई जाएगी, जहां हमले किए जा रहे हैं। रूसी प्रतिनिधिमंडल के प्रमुख व्लादिमीर मेडिंस्की ने कहा कि वार्ता में रूसी और यूक्रेनी प्रतिनिधिमंडलों ने यूक्रेन में स्थिति से संबंधित मुद्दों के सभी तीन ब्लॉकों पर चर्चा की।

तीन ब्लॉक पर विस्तार से हुई चर्चा : मेडिंस्की 

मेडिंस्की ने कहा, हमने मुद्दों के सभी तीन ब्लॉकों पर विस्तार से चर्चा की। सैन्य मुद्दा, अंतर्राष्ट्रीय मानवीय मुद्दा, तीसरा मुद्दा संघर्ष के भविष्य के राजनीतिक समाधान का मुद्दा है। उनमें से कुछ के लिए हम आपसी समझ खोजने में कामयाब रहे, लेकिन आज जो मुख्य मुद्दा सुलझाया गया वह नागरिकों को बचाने का मुद्दा है, जिन्होंने खुद को सैन्य संघर्ष के क्षेत्र में पाया। उक्रेइंस्का प्रावदा के मुताबिक, यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोदिमिर जेलेंस्की ने उल्लेख किया कि रूसी पक्ष ने वार्ता के दौरान सवाल उठाए, जिसके लिए उन्होंने पहले ही अपने जवाब तैयार कर लिए थे। कुछ मुद्दों पर समझौता असंभव है।