BREAKING NEWS

तबलीगी जमात के मुखिया मौलाना साद ने क्राइम ब्रांच को भेजा जवाब, कहा- अभी सेल्फ क्वारनटीन में हूं, बाकी सवाल बाद में◾स्वास्थ्य मंत्रालय का बयान : देश के कुल कोरोना संक्रमित मामलों में 30 फीसदी तबलीगी जमात के लोग◾राहुल गांधी ने PM मोदी पर साधा निशाना, ट्वीट कर कही ये बात ◾कोविड-19 पर सरकार ने जारी किया परामर्श, चेहरे और मुंह के बचाव के लिए घर में बने सुरक्षा कवर का करे प्रयोग◾जानिये क्यों, पीएम की 9 मिनट लाइट बंद करने की अपील के बाद अलर्ट मोड पर है बिजली विभाग की कंपनियां◾तबलीगी जमातियों पर भड़के राज ठाकरे,कहा- ऐसे लोगों को गोली मार देनी चाहिए ◾PM मोदी ने अटल बिहारी बाजपेयी की कविता को शेयर करते हुए कहा- आओ दीया जलाएं◾देश में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, गौतम बुद्ध नगर में वायरस के 5 नए मामले आए सामने ◾PM मोदी की दीया अपील पर महाराष्ट्र के ऊर्जा मंत्री ने दी प्रतिक्रिया, कहा- दोबारा सोचने की है जरुरत ◾बिजनौर के आइसोलेशन वार्ड में रखे गए जमातियों ने किया हंगामा, अंडे और बिरयानी की फरमाइश की◾दिल्ली : कोरोना संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए गंगाराम अस्पताल के 108 स्वास्थ्यकर्मियों को किया गया क्वारनटीन◾प्रियंका ने किया योगी सरकार पर वार, कहा- स्वास्थ्यकर्मियों को सबसे ज्यादा सहयोग की है जरूरत◾देश में 2900 से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित, अब तक 68 की मौत◾कोविड-19 : अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 1,480 लोगों की मौत, इराक में 820 पॉजिटिव मामलों की पुष्टि◾राजस्थान : कोरोना संक्रमित 60 वर्षीय महिला की मौत, संक्रमण के 191 मामलों की पुष्टि◾जम्मू-कश्मीर में सेना के जवानों ने मुठभेड़ में 2 आतंकवादियों को मार गिराया, ऑपरेशन जारी◾कर्नाटक में कोरोना वायरस से 75 वर्षीय बुजुर्ग की मौत, राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 4 हुई ◾कोरोना वायरस दिल्ली में नहीं फैला, घबराने की जरूरत नहीं: केजरीवाल ◾कोविड-19 : राज्यों में संक्रमण के 500 से ज्यादा मामले आये सामने , इसके साथ ही संक्रमित लोगों की संख्या 3,000 पार ◾दुनिया भर के 180 से ज्यादा देशों में कोरोना का कहर जारी, अब तक 53448 लोगों की मौत, करीब 1015191 से ज्यादा लोग इससे संक्रमित◾

रूस का अमेरिका से बदला : 60 अमेरिकी राजनयिकों को निकाला, कॉन्सुलेट भी बंद

रूस के पूर्व जासूस सर्गेई स्कि्रपल को जहर देने के आरोप में अमेरिका और रूस के बीच तनातनी जारी है। रूस ने अमेरीका के 60 राजनयिकों को निकाल दिया है और सेंट पीटर्सबर्ग कॉन्सुलेट को बंद करने का फैसला किया है। उन्हें देश छोड़ने के लिए एक हफ्त का समय दिया गया है। रूस के विदेश मंत्रालय के अनुसार मॉस्को में तैनात अमेरिका के 58 राजनयिकों के साथ ही येकर्तनबर्ग में दो जनरल कांसुलेट अफसरों को भी निकाला गया है। इन 60 राजनयिकों को 5 अप्रैल तक रूस छोड़ने का आदेश दिया गया है।

लावरोव ने कहा कि अमेरिकी राजदूत को जवाबी कार्रवाई के बारे में सूचित कर दिया गया है. उन्होंने कहा कि इसमें समान संख्या में राजनयिकों का निष्कासन और सेंट पीर्ट्सबर्ग में अमेरिकी महावाणिज्य दूतावास को बंद कदने का हमारा निर्णय शामिल है।

वही ,अमरीकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हीथर नुअर्ट ने कहा कि रूस की इस कार्रवाई का कोई औचित्य ही नहीं बनता है। हमने जो कार्रवाई की थी,उसके पीछे की वजह थी रूसी राजनायिकों पर ब्रिटेन में पूर्व जासूस और उनकी बेटी की जहर देकर हत्या की कोशिश की गई थी। रूस ने हमारे 60 राजदूतों को निष्कासित कर 7 दिन के अंदर देश छोड़ने और दूतावास बंद करने को कहा है। इससे ये साफ होता है कि रूस अब उन मुद्दों पर बातचीत के लिए इच्छुक नहीं है, जो दोनों देशों के लिए मायने रखती है।

आपको बता दें कि अमेरिका ने रूस के 60 राजनयिकों को खुफिया अधिकारी बताते हुए निष्कासित कर दिया था। इसके साथ ही अमेरिका ने सिएटल स्थित रूस के वाणिज्य दूतावास को बंद करने का भी आदेश दिया था। व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सेंडर्स ने कहा था, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका से रूस के लगभग दर्जनभर खुफिया अधिकारियों को निष्कासित करने का आदेश दिया। इसके अलावा सिएटल में रूसी वाणिज्य दूतावास को बंद करने का भी आदेश दिया क्योंकि यह हमारे पनडुब्बी और बोइंग के अड्डों के करीब है।

खुफिया एजेंसियों से जुड़े सभी रूसी राजनयिकों और उनके परिवार को देश छोड़ने के लिए सात दिन का वक्त दिया गया था। व्हाइट हाउस ने कहा कि यह ब्रिटेन में पूर्व जासूस सरगई स्क्रिपल पर नर्व एजेंट के हमले के खिलाफ की गई कार्रवाई थी। इस हमले के लिए ब्रिटेन रूस को जिम्मेदार ठहराता है। स्क्रिपल(66) और उनकी बेटी यूलिया(33) हमले के बाद से ब्रिटेन के एक अस्पताल में भर्ती हैं, उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अख़बार।