BREAKING NEWS

चिदंबरम ईमानदार हैं तो भाग क्यों रहे हैं : श्रीकांत◾पी चिदंबरम मामले पर बोले अखिलेश : सरकार से लड़ना है तो कागज की लड़ाई जीतनी पड़ेगी ◾LIVE : पी चिदंबरम ने अपने आप को बताया बेकसूर , दीवार फांद के घर में घुसी CBI की टीम◾Modi सरकार की कंपनियों को बड़ी राहत, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दी इसकी जानकारी !◾अनुच्छेद 370 हटने से पाक अधिकृत कश्मीर लेना आसान नहीं : अखिलेश◾प्रियंका ने PM मोदी पर साधा निशाना , कहा - सरकार के दावों की पोल खोल रहे हैं औद्योगिक संस्थाओं के विज्ञापन◾TOP 20 NEWS 21 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾INX मीडिया मामले में चिदंबरम की याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾SC में अयोध्या मामले की सुनवाई, हिंदू पक्ष के वकील ने रामलला को बताया नाबालिग◾सुप्रीम कोर्ट ने चिदंबरम की याचिका पर तत्काल सुनवाई से किया इनकार ◾PM मोदी ने जाम्बिया के राष्ट्रपति से की बातचीत, खनन और कारोबारी सहयोग पर दिया जोर ◾राहुल का केंद्र पर वार, कहा-चिदंबरम के चरित्रहनन के लिए एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही मोदी सरकार◾चिदंबरम के बचाव में प्रियंका, बोली-केंद्र की असफलताओं को उजागर करने की भुगत रहे है सजा◾उत्तर प्रदेश : योगी कैबिनेट का हुआ विस्तार, 23 मंत्रियो ने ली शपथ ◾कश्मीर मामले पर ट्रंप ने फिर की मध्यस्थता की पेशकश, कहा- PM मोदी से करूंगा बात◾INX मीडिया : चिदंबरम की बढ़ी मुश्किलें, ईडी ने जारी किया लुकआउट नोटिस ◾मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर के निधन पर PM मोदी ने किया शोक व्यक्त ◾भारतीय सेना ने लिया अभिनंदन का बदला, गिरफ्तार करने वाले पाक कमांडो को किया ढेर◾चिदंबरम के लिए कयामत की रात, जेल या बेल पर फैसला सुबह ◾पंजाब, हरियाणा में बनी हुई है बाढ़ की स्थिति◾

विदेश

वैज्ञानिकों ने रोबोट को बना दिया नेता, साल 2020 में लड़ेगा चुनाव

न्यूजीलैंड के वैज्ञानिकों ने एक रोबोट को नेता बना दिया है। आपको बता दे कि इसमें नेता वाली सारी खूबियां होंगी । वही , ये दुनिया में इस तरह का पहला रोबोट होगा ।

वैज्ञानिकों ने दुनिया का पहला कृत्रिम बुद्धि वाला राजनीतिज्ञ विकसित किया है जो आवास, शिक्षा, आव्रजन संबंधी नीतियों जैसे स्थानीय मुद्दों पर पूछे गए सवालों के जवाब दे सकता है। इतना ही नहीं, उसे 2020 में न्यूजीलैंड में होने वाले आम चुनाव में उम्मीदवार बनाने की तैयारियां भी जोरों पर हैं।

इस आभासी राजनीतिज्ञ का नाम सैम (एसएएम) रखा गया है और इसके रचनाकार न्यूजीलैंड के 49 वर्षीय उद्यमी निक गेरिट्सन हैं। उन्होंने कहा ऐसा लगता है कि फिलहाल राजनीति में कई पूर्वाग्रह हैं।। 1 प्रतीत होता है कि दुनिया के देश जलवायु परिवर्तन एवं समानता जैसे जटिल मुद्दों का हल नहीं निकाल पा रहे हैं। कृत्रिम बुद्धि वाला राजनीतिज्ञ फेसबुक मेसेन्जर के जरिए लोगों को प्रतिक्रिया देना लगातार सीख रहा है।

गेरिट्सन मानते हैं कि एल्गोरिदम में मानवीय पूर्वाग्रह असर डाल सकते हैं। लेकिन उनके विचार से पूर्वाग्रह प्रौद्योगिकी संबंधी समाधानों में चुनौती नहीं हैं। टेक इन एशिया की खबर में कहा गया है कि प्रणाली भले ही पूरी तरह सटीक न हो, लेकिन यह कई देशों में बढ़ते राजनीतिक एवं सांस्कृतिक अंतर को भरने में मददगार हो सकती है।

न्यूजीलैंड में साल 2020 के आखिर में आम चुनाव होंगे। गेरिट्सन का मानना है कि तब तक सैम एक प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरने के लिए तैयार हो जाएगा।