BREAKING NEWS

आंध्र प्रदेश में कोरोना के 10 हजार से अधिक नए मामले की पुष्टि, 77 की मौत◾लाखों दीपों से जगमगा उठी रामनगरी, पुष्पों से सजा शहर◾जम्मू कश्मीर पर बड़बोली टिप्पणी करने को लेकर भारत ने चीन को दी सख्त नसीहत◾महाराष्ट्र : मुंबई में तेज हवा के साथ भारी बारिश, कई इलाकों में रेड अलर्ट◾महाराष्ट्र में कोरोना का प्रकोप जारी, 24 घंटे में 334 लोगों की मौत, 10309 नए मामले◾प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रिया चक्रवर्ती को भेजा सम्मन, सात अगस्त को पूछताछ के लिए बुलाया ◾एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में जांच करेगी सीबीआई, केंद्र ने जारी की अधिसूचना ◾चीन का बड़बोलापन : जम्मू-कश्मीर में धारा 370 हटाना अवैध और अमान्य, एकतरफा बदलाव अस्वीकार्य◾भूमि पूजन के बाद भावविभोर हुए योगी, बोले : 'रामराज्य' और 'नए भारत निर्माण' के युग का प्रारंभ◾अयोध्या : भूमि पूजन के दौरान चरम पर पहुंचा रामभक्तों का उत्साह, भावुक हुए श्रद्धालु◾भूमिपूजन पर बोले ओवैसी-यह लोकतंत्र की हार और हिंदुत्व की सफलता का दिन◾अयोध्या में सुनहरा अध्याय रच रहा है भारत, राष्ट्रीय एकता और राष्ट्रीय भावना का प्रतीक बनेगा राम मंदिर : PM मोदी ◾भूमि पूजन के बाद बोले मोहन भागवत-आज देश में सदियों की आस पूरी होने का आनंद◾राम मंदिर भूमि पूजन के बाद राहुल का तंज- घृणा और क्रूरता से प्रकट नहीं हो सकते राम◾500 साल का लंबा इंतजार खत्म, भूमि पूजन के साथ साकार हुआ भव्य राम मंदिर का सपना◾सुशांत सुसाइड केस : केंद्र ने CBI जांच संबंधी सिफारिश की स्वीकार, SC ने कहा- मामले का सच सामने आना चाहिए◾राम मंदिर भूमि पूजन : अयोध्या में PM मोदी ने रामलला के किए दर्शन, कार्यक्रम की हुई शुरुआत ◾अनुच्छेद 370 को निरस्त किए जाने का एक वर्ष पूरा, लाल चौक पर BJP कार्यकर्ता रम्यसा रफीक ने लहराया तिरंगा◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 85 लाख के पार, 7 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾देश में कोरोना संक्रमण के 52 हजार 509 नए मामलों की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 19 लाख के पार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

शेख हसीना ने की अपील, म्यांमार में रोहिंग्याओं के लिए बने सुरक्षित जोन

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने म्यांमार में हिंसा से बच कर उनके देश में पनाह लेने वाले रोहिंग्या मुसलमानों के लिए संयुक्त राष्ट्र की निगरानी में म्यांमार के भीतर ही सुरक्षित जोन बनाने का प्रस्ताव पेश किया है। शेख हसीना ने कल संयुक्त राष्ट्र महासभा में कहा, यह लोग रक्षा, सुरक्षा, और सम्मान के साथ स्वदेश लौट सकें। संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि रखाइन प्रांत में सैनिक कार्रवाई के कारण रोहिंग्या समुदाय के चार लाख, 20 हजार से अधिक मुसलमान जान बचा कर बांग्लादेश भाग गए हैं।

रोहिंग्या उग्रवादियों ने 25 अगस्त को एक पुलिस चौकी पर हमला किया था जिसके बाद उनके खिलाफ सैन्य कार्रवाई शुरू हुई थी। शेख हसीना ने आरोप लगाया कि रोहिंग्या लोग स्वदेश लौट नहीं पाएं इसके लिए म्यांमार के प्रशासन ने सीमा पर बारूदी सुरंगें बिछा दी हैं। उन्होंने कहा कि इस समस्या के समाधान के लिए संयुक्त राष्ट्र को तत्काल कदम उठाने चाहिए। उन्होंने रोहिंग्या मुसलमानों की सुरक्षा के लिए पांच सूत्रीय योजना पेश की।

\"\"

इसमें संयुक्त राष्ट्र की निगरानी में म्यांमार में ही सुरक्षित जोन बनाने का प्रस्ताव भी शामिल है। म्यांमार में रोहिंग्या समुदाय के लोगों के खिलाफ कार्रवाई की विश्वभर में कड़ी निंदा हो रही है। संयुक्त राष्ट्र ने इसे जातीय सफाया कहा है वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रों ने इसे जाति संहार करार दिया है। शेख हसीना ने कहा कि म्यांमार को हिंसा और जातीय सफाये की कार्रवाई बंद करनी चाहिए। संयुक्त राष्ट्र के तथ्यात्मक खोज अभियान को मंजूरी देने के लिए सहमत होना चाहिए, विस्थापितों की वापसी सुनिश्चित करनी चाहिए और रोहिंग्या समुदाय के लोगों को नागरिकता देने का सुझाव देने वाली रिपोर्ट को लागू करना चाहिए।

इस खास समुदाय के प्रति हिंसा पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिक्रिया हुई जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को हिंसा बंद करने की मांग करनी पड़ी। इन सुरक्षित क्षेत्रों के निर्माण के लिए सुरक्षा परिषद की मंजूरी जरूरी है, जिसमें शामिल चीन के पास वीटो का अधिकार है। चीन म्यांमार के पूर्व जुंटा का कड़ा समर्थक है। गौरतलब है कि म्यांमार में 11 लाख की आबादी वाले रोहिंग्या समुदाय के लोग वर्षों से भेदभाव के शिकार रहे हैं, इन्हें नागरिकता से वांचित रखा गया है। हांलाकि इनमें से अनेक लोग देश में लंबे समय से रह रहे हैं।