BREAKING NEWS

'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾JDU ने चिराग को बताया RJD की 'बी' टीम, कहा-रील लाइफ के साथ रियल लाइफ में भी असफल◾बिहार में कोरोना काल के बीच मतदान जारी, शुरुआती 2 घंटे में 6.74 प्रतिशत हुआ मतदान ◾Bihar Election : राहुल गांधी और जेपी नड्डा ने लोगों से वोट करने की अपील की, कही ये बात ◾जम्मू-कश्मीर के बडगाम में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के दौरान 2 आतंकवादियों को मार गिराया ◾बिहार चुनाव : कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच 71 सीटों के लिए मतदान जारी, पीएम मोदी ने लोगों से की ये अपील ◾बिहार चुनाव : पहले चरण में 16 जिलों की 71 सीटों पर मतदान आज, 1066 प्रत्याशियों के भविष्य का होगा फैसला◾बिहार विधानसभा चुनाव : दूसरे चरण के चुनाव प्रचार के लिए आज PM मोदी और राहुल की कई रैलियां◾आज का राशिफल ( 28 अक्टूबर 2020 )◾अर्थव्यवस्था में सुधार, पर 2020-21 में वृद्धि दर नकारात्मक या शून्य के करीब रहेगी : सीतारमण ◾SRH vs DC ( IPL 2020 ) : साहा, वॉर्नर और राशिद ने सनराइजर्स को दिलाई दिल्ली पर जीत◾पोम्पियो के दौरे से भड़का बीजिंग, कहा : 'भारत - चीन' के बीच कलह के बीज बोना बंद करें अमेरिका◾उमर अब्दुल्ला बोले- नया भूमि कानून स्वीकार नहीं, इस छल से जम्मू-कश्मीर बिकने के लिए तैयार◾अगर आरजेडी सत्ता में आयी तो विकास के कटोरे में छेद हो जायेगा, इनका चरित्र ही अराजक है : जेपी नड्डा ◾भ्रष्टाचार का वंशवाद बड़ी चुनौती, कई राज्यों में राजनीतिक परंपरा का हिस्सा बना: पीएम मोदी◾अनलॉक दिशानिर्देशों में और ढील नहीं , कंटेनमेंट क्षेत्राें में तीस नवम्बर तक लागू रहेगा लॉकडाउन : MHA◾मध्यप्रदेश में भाजपा उम्मीदवार इमरती देवी को EC का नोटिस, कमलनाथ पर की थी विवादित टिप्पणी◾पांच नवंबर तक ऋणदाता कर्जदारों के खातों में ‘ब्याज पर ब्याज’ की रकम जमा करेंगे : केन्द्र सरकार ◾BECA डील के बाद बोले माइक पोम्पिओ- चीन की चालबाजी के खिलाफ भारत के साथ खड़ा है अमेरिका◾मोदी सरकार का बड़ा फैसला, जम्मू-कश्मीर में सभी के लिए जमीन खरीदने का मार्ग प्रशस्त◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जापान के साथ हुए सैन्य समझौता को रद्द नहीं करेगा दक्षिण कोरिया

दक्षिण कोरिया ने जापान के साथ महत्त्वपूर्ण सैन्य खुफिया जानकारी साझा करने से जुड़े समझौते को रद्द करने के अपने फैसले को आखिरी क्षणों में शुक्रवार को वापस ले लिया। उसके इस कदम से अमेरिका को भी राहत मिली है। यह समझौता शुक्रवार मध्य रात्रि समाप्त होने वाला था। 

‘‘जीएसओएमआईए’’ समझौता 2016 में हुआ था, जिसके तहत दोनों देश (दक्षिण कोरिया और जापान) अपनी सैन्य खुफिया जानकारियों को साझा करने पर सहमत हुये थे। 

दक्षिण कोरिया और जापान के बीच संबंधों में आयी तेज गिरावट के कारण अमेरिका के लिए चिंता पैदा हो गई थी क्योंकि वह (अमेरिका) परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया के खतरे को रोकने की कोशिश में लगा हुआ है। दक्षिण कोरिया और जापान, दोनों अमेरिका के प्रमुख सहयोगी देश हैं, इसलिए यह समझौता अमेरिका के लिए भी महत्त्वपूर्ण है। 

सियोल ने इस समझौते के रद्द होने को सशर्त निलंबित करने की घोषणा की, जिसमें महज छह घंटे शेष रह गये थे। सियोल स्थित राष्ट्रपति कार्यालय ‘ब्लू हाउस’ में पदस्थ राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारी किम यू-गेउन ने इस फैसले की पुष्टि की। इस समझौते को जीएसओएमआईए के रूप में जाना जाता है, जो अब शुक्रवार आधी रात को खत्म नहीं होगा। 

उन्होंने कहा, ‘‘जापान सरकार ने अपनी सहमति व्यक्त की है।’’ 

हालांकि, उन्होंने चेतावनी दी कि यह समझौता अब भी ‘‘किसी भी समय रद्द किया जा सकता है।’’ जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी ने जोर देकर कहा कि यह समझौता ‘‘महत्वपूर्ण’’ है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में सुरक्षा हालात की मौजूदा स्थिति को देखते हुए उनका मानना है कि दक्षिण कोरिया ने यह निर्णय रणनीतिक दृष्टिकोण से किया है। 

उन्होंने कहा कि नागोया में जी-20 देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर उनके दक्षिण कोरियाई समकक्ष कांग क्यूंग-वा के साथ द्विपक्षीय वार्ता आयोजित करने के लिये अधिकारी फिलहाल काम कर रहे हैं। गौरतलब है कि व्यापारिक और ऐतिहासिक विवादों को लेकर दक्षिण कोरिया ने अगस्त में समझौते को समाप्त करने की घोषणा की थी।