BREAKING NEWS

कपिल सिब्बल ने ''परीक्षा पे चर्चा' को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना ◾सीडीएस बिपिन रावत बोले- पाक के साथ युद्ध की परिस्थिति उत्पन्न होगी या नहीं, अनुमान लगाना मुश्किल◾भाजपा के नये अध्यक्ष बने नड्डा, नरेंद्र मोदी समेत इन नेताओं ने दी शुभकामनाएं ◾TOP 20 NEWS 20 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भाजपा के नये अध्यक्ष नड्डा बोले- जिन राज्यों में भाजपा मजबूत नहीं, वहां कमल पहुंचाएं◾PM मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना, कहा- जिन्हें जनता ने नकार दिया अब वे भ्रम और झूठ के शस्त्र का इस्तेमाल कर रहे हैं◾उम्मीद है कि नड्डा के नेतृत्व में BJP निरंतर सशक्त और अधिक व्यापक होगी : अमित शाह ◾निर्भया गैंगरेप: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की दोषी पवन की याचिका, अब फांसी तय◾आज नामांकन नहीं भर पाए CM केजरीवाल, रोड शो के चलते हुई देरी◾JP नड्डा बने बीजेपी के नए अध्यक्ष, अमित शाह समेत कई नेताओं ने दी बधाई ◾पंचतत्व में विलीन हुए श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा 'मिन्ना जी' ◾BJP के पूर्व सांसद और वरिष्ठ पत्रकार अश्विनी कुमार चोपड़ा जी का निगम बोध घाट में हुआ अंतिम संस्कार◾पंचतत्व में विलीन हुए पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार चोपड़ा◾अश्विनी कुमार चोपड़ा - जिंदगी का सफर, अब स्मृतियां ही शेष...◾करनाल से बीजेपी के पूर्व सांसद अश्विनी कुमार चोपड़ा के निधन पर राजनाथ सिंह समेत इन नेताओं ने जताया शोक ◾अश्विनी कुमार की लेगब्रेक गेंदबाजी के दीवाने थे टॉप क्रिकेटर◾PM मोदी ने वरिष्ठ पत्रकार और पूर्व सांसद अश्विनी चोपड़ा के निधन पर शोक प्रकट किया ◾पंजाब केसरी दिल्ली के मुख्य संपादक और पूर्व भाजपा सांसद श्री अश्विनी कुमार जी को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ◾निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾सीएए पर प्रदर्शनों के बीच CJI बोबड़े ने कहा- यूनिवर्सिटी सिर्फ ईंट और गारे की इमारतें नहीं◾

जापान के साथ हुए सैन्य समझौता को रद्द नहीं करेगा दक्षिण कोरिया

दक्षिण कोरिया ने जापान के साथ महत्त्वपूर्ण सैन्य खुफिया जानकारी साझा करने से जुड़े समझौते को रद्द करने के अपने फैसले को आखिरी क्षणों में शुक्रवार को वापस ले लिया। उसके इस कदम से अमेरिका को भी राहत मिली है। यह समझौता शुक्रवार मध्य रात्रि समाप्त होने वाला था। 

‘‘जीएसओएमआईए’’ समझौता 2016 में हुआ था, जिसके तहत दोनों देश (दक्षिण कोरिया और जापान) अपनी सैन्य खुफिया जानकारियों को साझा करने पर सहमत हुये थे। 

दक्षिण कोरिया और जापान के बीच संबंधों में आयी तेज गिरावट के कारण अमेरिका के लिए चिंता पैदा हो गई थी क्योंकि वह (अमेरिका) परमाणु हथियार संपन्न उत्तर कोरिया के खतरे को रोकने की कोशिश में लगा हुआ है। दक्षिण कोरिया और जापान, दोनों अमेरिका के प्रमुख सहयोगी देश हैं, इसलिए यह समझौता अमेरिका के लिए भी महत्त्वपूर्ण है। 

सियोल ने इस समझौते के रद्द होने को सशर्त निलंबित करने की घोषणा की, जिसमें महज छह घंटे शेष रह गये थे। सियोल स्थित राष्ट्रपति कार्यालय ‘ब्लू हाउस’ में पदस्थ राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारी किम यू-गेउन ने इस फैसले की पुष्टि की। इस समझौते को जीएसओएमआईए के रूप में जाना जाता है, जो अब शुक्रवार आधी रात को खत्म नहीं होगा। 

उन्होंने कहा, ‘‘जापान सरकार ने अपनी सहमति व्यक्त की है।’’ 

हालांकि, उन्होंने चेतावनी दी कि यह समझौता अब भी ‘‘किसी भी समय रद्द किया जा सकता है।’’ जापान के विदेश मंत्री तोशिमित्सु मोतेगी ने जोर देकर कहा कि यह समझौता ‘‘महत्वपूर्ण’’ है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में सुरक्षा हालात की मौजूदा स्थिति को देखते हुए उनका मानना है कि दक्षिण कोरिया ने यह निर्णय रणनीतिक दृष्टिकोण से किया है। 

उन्होंने कहा कि नागोया में जी-20 देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर उनके दक्षिण कोरियाई समकक्ष कांग क्यूंग-वा के साथ द्विपक्षीय वार्ता आयोजित करने के लिये अधिकारी फिलहाल काम कर रहे हैं। गौरतलब है कि व्यापारिक और ऐतिहासिक विवादों को लेकर दक्षिण कोरिया ने अगस्त में समझौते को समाप्त करने की घोषणा की थी।