BREAKING NEWS

Central University Admission : CUET-ग्रेजुएट का चौथा चरण आज से शुरू हो गया ◾संगीत सोम का मंच से धमकी भरा बयान, कहा-'मैं अभी गया नहीं, अब भी 100 विधायकों के बराबर हूं'◾बीजेपी के निशाने पर कांग्रेस, सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए आतंकवाद, भ्रष्टाचार और परिवारवाद का लगाया आरोप ◾एक्सप्रेस ट्रेन और मालगाड़ी में जोरदार टक्कर,चार पहिए पटरी से उतरे, मची अफरा-तफरी ◾महाराष्ट्र : आज से शुरू होगा विधानसभा का मानसून सत्र, पहली बार विपक्ष में बैठेंगे आदित्य ठाकरे◾Coronavirus : 24 घंटे में दर्ज हुए 9 हजार केस, 2.49% रहा डेली पॉजिटिविटी रेट◾Jammu Kashmir: सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड फेंक फरार हुए आतंकी, सर्च अभियान में हथियार-गोलाबारूद बरामद◾मुश्किलों में फंस सकते है कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल, सीबीआई कसेगी शिकंजा ◾आज का राशिफल (17 अगस्त 2022)◾बिहार में मिशन 35 प्लस के लक्ष्य के साथ नीतीश-तेजस्वी सरकार के खिलाफ मैदान में उतरेगी भाजपा◾PM मोदी और मैक्रों ने भू-राजनीतिक चुनौतियों, असैन्य परमाणु ऊर्जा सहयोग पर चर्चा की◾अपने अंतिम दिनों में, ठाकरे सरकार ने जल्दबाजी में लिए फैसले : CM शिंदे◾ चीनी पोत पहुंचा श्रीलंका हम्बनटोटा बंदरगाह , भारत ने जताई जासूसी की आशंका◾चीनी ‘जासूसी पोत’ पहुंचा श्रीलंकाई बंदरगाह , बीजिंग बोला-जहाज किसी के सुरक्षा हितों के लिए खतरा नहीं◾दिल्ली में फिर से आया कोरोना, 917 नए मामले आये सामने , तीन की मौत◾कांग्रेस संगठन में बड़ा बदलाव, रसूल वानी बने जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष◾AAP सरकार के पांच महीने पूरे होने पर 5 मंत्रियों ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड◾मुंबई पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, गुजरात की फैक्ट्री में मारा छापा, 1026 करोड़ का नशीला पदार्थ जब्त◾गुजरात दंगों में बिल्कीस बानो दुष्कर्म के दोषी जेल से रिहा, राजनीति का शिकार होने का किया बड़ा दावा◾दिल्ली सरकार ने कोविड संबंधी आंकड़ों के प्रबंधन के लिए बनाई दो टीम, एक सरकारी आदेश में दी जानकारी ◾

Sri Lanka: महिंदा राजपक्षें समेत 12 अन्य नेताओं के खिलाफ कोर्ट ने जारी करा फरमान- देश छोड़ने पर लगाई पाबंदी

श्रीलंका की एक अदालत ने गुरुवार को पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे और उनके बेटे, सांसदों और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों सहित 14 अन्य लोगों के देश छोड़ने पर प्रतिबंध लगा दिया।

प्रधानमंत्री के आवास के बाहर हुए थे दंगे

 जानकारी के मुताबिक कोलंबो की मजिस्ट्रेट अदालत ने महिंदा राजपक्षे, उनके बेटे एमपी नमल, और 14 अन्य पर यात्रा प्रतिबंध जारी किया। इन लोगों ने प्रधानमंत्री के आधिकारिक घर के बाहर और उनके राष्ट्रपति कार्यालय के सामने शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर हिंसक हमले किए थे। अटॉर्नी जनरल संजय राजरंतम ने अदालतों को पूर्व पीएम और अन्य पर प्रतिबंध लगाने के लिए सूचित किया था। अटॉर्नी पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) को शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर हिंसक हमलों की जांच करने का निर्देश दिया है।

 गंभीर आर्थिक संकट के बीच राजपक्षे से पद छोड़ने की मांग को लेकर...

 मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक राजपक्षे के समर्थक डंडों और लोहे की सलाखों से लैस थे, उन्होंने प्रदर्शनकारियों पर हमला किया था। गंभीर आर्थिक संकट के बीच राजपक्षे से पद छोड़ने की मांग को लेकर प्रदर्शनकारी एक महीने से अधिक समय से डेरा डाले हुए थे। जिन अन्य लोगों के खिलाफ यात्रा प्रतिबंध लगाया गया है, उनमें पूर्व मंत्री पवित्रा वन्नियाराची, कंचना जयरत्ने, रोहिता अबेगुणवर्धने, सनथ निशांत, अन्य सांसद और वरिष्ठ डीआईजी देशबंधु थेनाकून शामिल हैं।