BREAKING NEWS

नितिन गडकरी की अपील, कहा- सभी दलों को यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करने के लिए सामूहिक प्रयास करना चाहिए◾Bharat Jodo Yatra: भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होगी सोनिया गांधी, सोमवार से राजस्थान में होगी शुरू◾Border dispute: एमएसआरटीसी ने कोल्हापुर और बेलगावी के बीच बहाल की बस सेवा, हालात सामान्य होने के आसार ◾UP News: धर्मांतरण के बाद युवती के निकाह मामले में 10 के खिलाफ FIR दर्ज, दो गिरफ्तार◾चक्रवाती तूफान मैंडूस का दिखने लगा असर, चेन्नई से 4 उड़ानें रद्द, सरकार ने कसी कमर ◾गुजरात विजय पर ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा- कांग्रेस अपना वजूद ढूंढने को मजबूर◾भाजपा ने गुजरात में विधायक दल के नेता के चयन के लिए पर्यवेक्षक किया नियुक्त, जानें किसे मिली जिम्मेदारी ◾हिमाचल में कांग्रेस की जीत पर बोले अशोक गहलोत- चुनाव जीतने के लिए OPS ने निभाई अहम भूमिका ◾राजस्थान: सीएम गहलोत बोले- बजट में किसानों, पशुपालकों की खुशहाली का रखेंगे ध्यान ◾उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा- सांसद मुद्दों को उठाने से पहले निजी अध्ययनों व आंकड़ों का विश्लेषण करें ◾Delhi News: कांग्रेस को झटका, दो नव-निर्वाचित पार्षद ‘आप’ में हुए शामिल◾CM योगी का ऐलान, कानपुर के पास जल्द होगा अपना हवाई अड्डा ◾शीतकालीन सत्र में पेश हुआ 'यूनिफॉर्म सिविल कोड बिल', पक्ष में पड़े 63 वोट, विपक्ष ने किया जमकर हंगामा◾Noida: नोएडा में दरिंदगी, 14 वर्ष की लड़की के साथ दुष्कर्म, आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार, जानें मामला ◾केसीआर की पार्टी का आधिकारिक नाम हुआ बीआरएस, EC ने दी स्वीकृति ◾उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त, बरेली में पेड़ से लटका मिला पांचवीं के छात्र का शव, जांच में जुटी पुलिस ◾गुजरात चुनाव के नतीजों पर कांग्रेस ने दी प्रतिक्रिया, कहा- अब कठोर निर्णय लेने का वक्त◾Indonesia: इंडोनेशिया में कोयले की खदान में भारी विस्फोट, 9 की मौत, अन्य कई घायल ◾दलाई लामा का संदेश, कहा- हथियारों पर बहुत खर्च कर रहे लोग, यह पूरी तरह से गलत ◾मेयर पर आदेश गुप्ता ने तोड़ी चुप्पी- 'AAP' का ही होगा सब कुछ... विपक्ष में अहम भूमिका निभाएगी BJP ◾

रूस पर लग सकते हैं सबसे कठोर अमेरिकी प्रतिबंध

यूक्रेन में रूसी सैनिकों की तैनाती को आक्रमण करार देने के व्हाइट हाउस की घोषणा के बाद मास्को पर कठोर प्रतिबंध लगने की संभावना है।

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने स्पष्ट कर दिया है कि वाशिंगटन व्यापक वित्तीय प्रतिबंध लगाने का इरादा रखता है।

बाइडन प्रशासन ने कहा कि अमेरिका के सबसे कठोर प्रतिबंध का पैकेज यूरोपीय देशों के सहयोग से तैयार कर लिया गया है, जो रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और रूस के अंतराष्ट्रीय व्यापार को प्रभावित करने के लिए पर्याप्त होगा। इससे रूस में मंदी आने की संभावना बनेगी।

अमेरिका ने अब तक यह खुलासा नहीं किया है कि वह संभावित कठोरतम पाबंदियों में किस विकल्प का उपयोग करेगा।