बीते 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से भारत में पाकिस्तान का जबरदस्त विरोध हो रहा है और दोनों देशों के बीच रिश्ते बेहद तल्ख़ होते जा रहे है। भारत का गुस्सा अब दोनों देशों के व्यापारिक रिश्तों पर भी होने लगा है।

पाकिस्तान में बड़े भाव

जी हाँ भारत ने पाकिस्तान मोस्ट फेवरेबल नेशन का दर्जा वापस ले लिया है और साथ भी भारत से पाकिस्तान को सप्लाई होने वाली चीजों में भी भारी कमी देखने को मिल रही है।

पाकिस्तान में बड़े भाव

भारतीय व्यापारी और किसान अब भारत के साथ व्यापर करने में दिलचस्पी नहीं ले रहे है और सड़क मार्ग से होने वाली कई जरूरी वस्तुओं की सप्लाई भेजनी बंद की जा चुकी है। भारतीय किसान बयान दे चुके है की वो अपनी चीजों को पकिस्तान भेजने के बजाये फेंकना पसंद करेंगे।

पाकिस्तान में बड़े भाव

हाल ही में जानकारी मिली है की पाकिस्तान की सब्जी मंडियों में चीजों के भाव आसमान छूने लगे है। मध्या प्रदेश के किसानों ने पाकिस्तान को भेजने वाले टमाटर की फसल की सप्लाई बंद कर दी है और नतीजा ये है की टमाटर के भाव बेहद महंगे हो गए है।

पाकिस्तान में बड़े भाव

सोशल मीडिया पर शेयर की गयी जानकारी के अनुसार पाकिस्तान में टमाटर के भाव 180 रूपए प्रति किलो पहुँच चुके है और आने वाले दिनों में और भी महंगे हो सकते है। भारत में यही टमाटर 10 रूपए किलो की कीमत पर मिल रहा है।

पाकिस्तान में बड़े भाव

भारत के दिल्ली में स्थित आजादपुर मंडी में व्यापारियों ने पाकिस्तान को माल नहीं भेजने का फैसला किया है। जानकारी के लिए बता दें भारत से रोजाना 75 से 100 ट्रक टमाटर पाकिस्तान भेजा जाता था जो अब नहीं जा रहा है।

पाकिस्तान में बड़े भाव

टमाटर के साथ साथ पाकिस्तान में अन्य सब्जयां भी महंगी होने लगी है और पाकिस्तानी मंडियों के ताजा भावों की बात करें तो आलू 30-35 रुपए किलो बिक रहा है। वहीँ खीरे और तोरी 80 रुपए प्रति किलो में बिक रहे हैं। यही हाल रहा तो कुछ दिन में पाकिस्तान को जबरदस्त महंगाई की मार झेलनी पड़ सकती है।

पाकिस्तान में बड़े भाव

Modi सरकार की बड़ी कार्रवाई : J&K में हटाई 18 हुर्रियत नेताओं की सुरक्षा