BREAKING NEWS

पाकिस्तान वाले ट्वीट पर कपिल मिश्रा को EC का नोटिस, बोले-सच बोलना इस देश में अपराध नहीं◾BJP महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने खान-पान का तरीका देख मजदूरों को बताया बांग्लादेशी◾ उत्तर प्रदेश में CAA के खिलाफ अनोखा विरोध, कब्रिस्तान पहुंच कर पूर्वजों की कब्र पर रोने लगे कांग्रेसी नेता◾विधानसभा चुनाव : आज दिल्ली में 3 सार्वजनिक रैलियों को संबोधित करेंगे अमित शाह ◾चीन में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हुई, 830 मामलों की पुष्टि ◾कोहरे की वजह दिल्ली आने वालीं 12 ट्रेनें 1 घंटे 30 मिनट से लेकर 4 घंटे 15 मिनट तक लेट ◾बालिका दिवस पर बोले नायडू- ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ हमारा संवैधानिक संकल्प है◾भ्रष्टाचार के मामले में 180 देशों में 80वें स्थान पर भारत◾अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾

नवाज शरीफ की अपील पर सुनवाई के लिए 2 सदस्यीय पीठ गठित

इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने अल-अजीजिया स्टील मिल्स घोटाले में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तरफ से दायर याचिका पर सुनवाई के लिए दो सदस्यीय पीठ गठित की है। एक रिपोर्ट के अनुसार, पीठ में न्यायमूर्ति आमिर फारूक और न्यायमूर्ति अख्तर कयानी 18 सितंबर को मामले की सुनवाई करेंगे। 

अकाउंटिबिलिटी जज अरशद मलिक का जुलाई में वीडियो वायरल होने के विवाद के बाद शरीफ की याचिका पर यह पहली सुनवाई होगी। वीडियो में कथित रूप से मलिक को यह कबूल करते हुए देखा जा रहा है कि उन्होंने दवाब में आकर शरीफ का दोष सिद्ध होने की घोषणा की थी। वीडियो के बाद पद से हटाए गए मलिक 24 दिसंबर 2018 को अल अजीजिया और फ्लैगशिप्स मामलों के दोषियों की घोषणा की थी। 

उन्होंने शरीफ को अल अजीजिया मामले में दोषी बना दिया, लेकिन एक अन्य मामले में बरी कर दिया। सुप्रीम कोर्ट ने जुलाई, 2017 में शरीफ को किसी सार्वजनिक पद के अयोग्य ठहरा दिया और नेशनल अकाउंटिबिलिटी ब्यूरो (एनएबी) को शरीफ परिवार के खिलाफ तीन मामले दायर करने का निर्देश दिया था। इससे पहले शीर्ष अदालत ने छह सदस्यीय संयुक्त जांच टीम गठित की थी। 

भाजपा के डीएनए में शामिल है ‘अपराधियों से प्रेम’ : कांग्रेस

समिति में फेडरल इंवेस्टीगेशन एजेंसी, एनएबी, इंटर-सर्विस इंटेलीजेंस, मिलिट्री इंटेलीजेंस, सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज कमीशन तथा स्टेट बैंक के अधिकारी शामिल थे। अकाउंटिबिलिटी जज मोहम्मद बशीर ने पिछले साल छह जुलाई को शरीफ और उनकी बेटी मरयम नवाज को एवेनफील्ड संपत्ति के मामले में दोषी सिद्ध किया था। आईएचसी ने हालांकि इस सजा को स्थगित कर दिया था। पाकिस्तान के तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके शरीफ फिलहाल लाहौर के कोट लखपत जेल में बंद हैं।