BREAKING NEWS

MI vs RR ( IPL 2020 ) : राजस्थान रॉयल्स ने मुंबई इंडियंस को 8 विकेट से हराया ◾अगर जीेसटी फेल है, तो पुरानी कर प्रणाली लागू करें : ठाकरे◾PM मोदी ने त्योहारों की खरीदारी में स्थानीय उत्पादों को प्राथमिकता देने का किया आहृवान◾सरहदों की सुरक्षा कर रहे सैनिकों के सम्मान में एक दीया जरूर जलाएं : PM मोदी ◾देशभर में सादगी से मनाया गया दशहरा, 'कोविड' का पुतला दहन किया गया ◾चीन के साथ तनाव खत्म करना चाहता है भारत लेकिन एक इंच भी जमीन नहीं लेने देंगे : राजनाथ ◾आज का राशिफल ( 25 अक्टूबर 2020 )◾बिहार : शिवहर से चुनावी उम्मीदवार श्रीनारायण सिंह की गोली मारकर हत्या◾KXIP vs SRH ( IPL 2020 ) : किंग्स इलेवन पंजाब ने सनराइजर्स हैदराबाद को 12 रनों से हराया ◾बिहार चुनाव : केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोली- कमल का बटन दबाने से घर आएंगी लक्ष्मी◾महबूबा ने किया तिरंगे का अपमान तो बोले रविशंकर प्रसाद- अनुच्छेद 370 बहाल नहीं होगा◾KKR vs DC : वरुण की फिरकी में फंसी दिल्ली, 59 रनों से जीतकर टॉप-4 में बरकरार कोलकाता ◾महबूबा मुफ्ती के घर गुपकार बैठक, फारूक बोले- हम भाजपा विरोधी हैं, देशविरोधी नहीं◾भाजपा पर कांग्रेस का पलटवार - राहुल, प्रियंका के हाथरस दौरे पर सवाल उठाकर पीड़िता का किया अपमान◾बिहार में बोले जेपी नड्डा- महागठबंधन विकास विरोधी, राजद के स्वभाव में ही अराजकता◾फारूक अब्दुल्ला ने 700 साल पुराने दुर्गा नाग मंदिर में शांति के लिए की प्रार्थना, दिया ये बयान◾नीतीश का तेजस्वी पर तंज - जंगलराज कायम करने वालों का नौकरी और विकास की बात करना मजाक ◾ जीडीपी में गिरावट को लेकर राहुल का PM मोदी पर हमला, कहा- वो देश को सच्चाई से भागना सिखा रहे है ◾बिहार में भ्रष्टाचार की सरकार, इस बार युवा को दें मौका : तेजस्वी यादव ◾महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस कोरोना पॉजिटिव , ट्वीट कर के दी जानकारी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

यूएस - चीन टेंशन : जासूसी के आरोप में बंद चीनी वाणिज्य दूतावास में अमेरिकी एजेंटों ने शुरू की जांच

ह्यूस्टन : ह्यूस्टन में चीनी वाणिज्य दूतावास बंद होने के बाद अमेरिका के संघीय एजेंट और कानून प्रवर्तन एजेंसियों के अधिकारी ताला मरम्मत करने वालों के साथ परिसर में दाखिल हुए हैं। यह कार्रवाई ऐसे समय की गई है जब अमेरिका और चीन के बीच तनाव चरम पर है। अमेरिका के ट्रम्प प्रशासन ने इस सप्ताह तनाव को बढ़ाते हुए चीन को ह्यूस्टन स्थित वाणिज्य दूतावास को आर्थिक जासूसी का आरोप लगाते हुए बंद करने का आदेश दिया था। 

चीनी वाणिज्य दूतावास ह्यूस्टन के व्यस्त मॉन्टरॉस बॉउलवार्ड इलाके में गत 40 वर्षों से स्थित है लेकिन ट्रम्प प्रशासन द्वारा निर्धारित मियाद के तहत इसे शुक्रवार शाम को बंद कर दिया गया। शुक्रवार को इमारत से चीन का झंडा और राजकीय चिह्न हटा दिया गया और तड़के वाणिज्य दूतावास के कर्मचारियों को इमारत से अपना सामान बाहर निकालते हुए देखा गया। 

सीएनएन की खबर के मुताबिक जैसे ही चीनी राजनयिकों ने इमारत खाली की वैसे ही कई काले रंग की एसयूवी कार, ट्रक, दो सफेद वैन और ताला ठीक करने वालों की एक वैन इमारत परिसर में दाखिल हुईं। इस दौरान वाणिज्य दूतावास के बाहर करीब 30 प्रदर्शनकारी भी तख्तियों के साथ इस फैसले पर खुशी जताते हुए नजर आए। शुक्रवार सुबह भी फलुन गोंग धार्मिक समूह के सदस्य इमारत के समक्ष प्रदर्शन करते हुए नजर आए और उन्होंने मिशन के बंद करने को जीत बताया। बता दें कि इस समूह को बीजिंग ने कथित तौर पर अपमानित किया है। 

स्थानीय मीडिया के मुताबिक वाणिज्य दूतावास को खाली करने की तय मियाद शाम चार बजे की समयसीमा निकलने के 40 मिनट बाद एक व्यक्ति परिसर में दाखिल हुआ जिसे माना जा रहा है कि वह विदेश विभाग का अधिकारी है। इसके बाद पीछे का छोटा दरवाजा खोला गया। इसके करीब एक घंटे बाद अग्निशमन दल इमारत में दाखिल हुआ। 

ट्रम्प प्रशासन के अधिकारियों ने शुक्रवार को चीन के ह्यूस्टन स्थिति वाणिज्य दूतावास को बंद करने के फैसले के बारे में और विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने दावा किया कि चीनी मिशन बीजिंग की ओर से प्रभावित करने की कोशिश कर रहा था। अमेरिकी सरकार के मुताबिक वह गोपनीय गतिविधियों में शामिल था। विदेश विभाग द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में न्याय विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ ह्यूस्टन स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास की गतिविधियां स्वीकार्य स्तर से परे जा रही थीं और हम इन्हें अवरुद्ध नहीं करते तो ह्यूस्टन और पूरे देश में चीनी वाणिज्य दूतावासों के और अधिक आक्रमक होने का खतरा पैदा हो गया था।’’ 

उल्लेखनीय है कि टेक्सास राज्य के ह्यूस्टन में स्थित चीनी वाणिज्य दूतावास को वर्ष 1979 में खोला गया था। इसके बंद होने के बाद चीन का अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन में दूतावास और शिकागो, लॉस एंजिलिस, न्यूयॉर्क और सैन फ्रांसिस्को में चार वाणिज्य दूतावास रह जाएंगे। उसका संयुक्त राष्ट्र में भी एक कार्यालय है। गौरतलब है कि चीन ने जवाबी कार्रवाई के तहत अमेरिका को चेंगदू स्थित वाणिज्य दूतावास बंद करने को कहा है। 

दुनियाभर में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 56 के पार