BREAKING NEWS

बंगाल चुनाव से पहले TMC को बड़ा झटका, शुभेंदु अधिकारी ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा◾बवाल के बाद किसानों को दिल्ली में एंट्री की अनुमति, बुराड़ी के निरंकारी ग्राउंड में प्रदर्शन कर सकेंगे◾सिडनी वनडे : भारत के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया ने पहले मैच में बनाया 374 रनों का विशाल स्कोर ◾प्रदर्शनकारी किसानों के साथ पुलिस की सख्ती पर CM अमरिंदर बोले - तुरंत बात करे केंद्र, इंतजार न कराये ◾बॉम्बे HC में कंगना रनौत की जीत, कोर्ट ने कहा- 'गलत इरादे' से BMC ने की मुंबई ऑफिस में तोड़फोड़◾टिकरी, सिंघु बॉर्डर पर किसानों और पुलिस के बीच झड़प, आंसू गैस के गोले दागे गए, कई मेट्रो स्टेशन बंद ◾महबूबा मुफ्ती का आरोप-एक बार फिर मुझे हिरासत में लिया गया, बाहर निकलने से रोक रही है पुलिस◾रोहिंग्या मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री का ओवैसी को जवाब, हमारे पास पूरी जानकारी, पुलिस करती है मॉनिटरिंग◾लव जिहाद : सपा सांसद ने कहा - मुस्लिम युवा हिंदू लड़कियों को बहन मानें, वर्ना होगा जबरदस्त टॉर्चर ◾देश में कोरोना मुक्त होने वालों की संख्या 87 लाख के पार, एक्टिव केस 4 लाख 55 हजार ◾दुर्घटनाग्रस्त होकर अरब सागर में गिरा भारतीय नेवी का मिग -29 K, लापता पायलट की खोज जारी◾कड़े सुरक्षा बंदोबस्त भी नहीं रोक पा रहे है अन्नदाताओं के कदम, दिल्ली के करीब पहुंचा किसान मार्च◾दुनियाभर में कोरोना महामारी का हाहाकार, पॉजिटिव मामलों की संख्या 6 करोड़ 8 लाख के पार ◾कप्तान कोहली के सवाल पर BCCI ने दिया बयान बीमार पिता को देखने के लिए मुंबई लौटे रोहित शर्मा◾IND vs AUS : ऑस्ट्रेलिया का टॉस जीत पहले बल्लेबाजी का फैसला◾गुजरात के राजकोट में कोविड-19 अस्पताल में भीषण आग लगने से 6 मरीजों की झुलस कर मौत◾आज का राशिफल ( 27 नवंबर 2020 )◾एफसी कोहली का 96 वर्ष की आयु में निधन; प्रधानमंत्री समेत कई हस्तियों ने जताया शोक◾PM मोदी 28 नवंबर को पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया का करेंगे दौरा◾प्रधानमंत्री द्वारा तीसरे ग्लोबल रिन्यूबल एनर्जी इन्वेस्टर्स मीट एक्सपो का शुभारंभ, शिवराज हुए शामिल◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

अमेरिका ने 2017 में 33000 शरणार्थी स्वीकारे

अमेरिका ने 2017 में केवल 33,000 शरणार्थियों को शरण दी। वर्ष 2016 में यह आंकड़ा 97,000 था। इस आंकड़े की 2017 से तुलना करें तो इसमें दो-तिहाई की गिरावट आई है। अमेरिका स्थित प्यू रिसर्च केंद्र की ओर से प्रकाशित संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी उच्चायोग (यूएनएचसीआर) के आंकड़े से यह जानकारी मिली है।

समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, थिंक टैंक ने शुक्रवार को कहा, 'अमेरिका में शरणार्थियों को शरण देने में कमी और डोनाल्ड ट्रंप के जनवरी 2017 में राष्ट्रपति बनना दोनों एक साथ हुआ।' यह पहली बार है कि 1980 में शरणार्थी अधिनियम को मंजूरी दिए जाने के बाद अमेरिका ने पूरी दुनिया के मुकाबले कम शरणार्थियों को शरण दी है। देश ने 1980 से वैश्विक स्तर पर 40 लाख शरणार्थियों में से 30 लाख शरणार्थियों को स्वीकार किया है।

वर्ष 2016 में, राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में अमेरिका ने 97,000 शरणार्थियों को शरण दी, जबकि अन्य देशों में 92,000 शरणार्थियों को बसाया गया। वर्ष 2017 में कम संख्या के बावजूद, शरणार्थियों को बसाने के मामले में अमेरिका 33,000 के आंकड़े के साथ सबसे आगे है। इसके बाद कनाडा(27,000), आस्ट्रेलिया(15,000), ब्रिटेन(6,000), जर्मनी, स्वीडन, फ्रांस और नार्वे प्रत्येक में 3,000 शरणार्थी दोबारा बसाए गए हैं।

ट्रंप ने वित्त वर्ष 2018 के लिए शरणार्थियों का कोटा 2017 में ओबामा द्वारा तय किए गए 110,000 को घटाकर 45,000 कर दिया है। वित्त वर्ष 2018 पूरे होने में तीन माह बचे हैं और अमेरिका ने अब तक 16,000 शरणाार्थियों का स्वागत किया है। ट्रंप ने अपने चुनावी अभियान के दौरान शरणार्थी नीति की निंदा की थी और कहा था कि शरणार्थियों की आड़ लेकर आतंकवादी देश में आ सकते हैं।