BREAKING NEWS

अनिल मेनन बनेंगे नासा एस्ट्रोनॉट, बन सकते हैं चांद पर पहुंचने वाले पहले भारतीय◾PM मोदी ने SP पर साधा निशाना , कहा - लाल टोपी वाले लोग खतरे की घंटी,आतंकवादियों को जेल से छुड़ाने के लिए चाहते हैं सत्ता◾ किसान आंदोलन को खत्म करने के लिए राकेश टिकैत ने कही ये बात◾DRDO ने जमीन से हवा में मार करने वाली VL-SRSAM मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾बिना कांग्रेस के विपक्ष का कोई भी फ्रंट बनना संभव नहीं, संजय राउत राहुल गांधी से मुलाकात के बाद बोले◾केंद्र की गलत नीतियों के कारण देश में महंगाई बढ़ रही, NDA सरकार के पतन की शुरूआत होगी जयपुर की रैली: गहलोत◾अमरिंदर ने कांग्रेस पर साधा निशाना, अजय माकन को स्क्रीनिंग कमेटी का अध्यक्ष नियुक्त करने पर उठाए सवाल◾SKM की बैठक खत्म, क्या समाप्त होगा आंदोलन या रहेगा जारी? कल फाइनल मीटिंग◾महाराष्ट्र: आदित्य ठाकरे ने 'ओमिक्रॉन' से बचने के लिए तीन सुझाव सरकार को बताए, केंद्र को भेजा पत्र◾गांधी का भारत अब गोडसे के भारत में बदल रहा है..महबूबा ने केंद्र सरकार को फिर किया कटघरे में खड़ा, पूर्व PM के लिए कही ये बात◾UP चुनाव: सपा-रालोद आई एक साथ, क्या राज्य में बनेगी डबल इंजन की सरकार, रैली में उमड़ा जनसैलाब ◾बेंगलुरु का डॉक्टर रिकवरी के बाद फिर हुआ कोरोना पॉजिटिव, देश में ओमीक्रॉन के 23 मामलों की हुई पुष्टि ◾समाजवादी पार्टी पर PM मोदी का हमला, बोले-'लाल टोपी' वालों को सिर्फ 'लाल बत्ती' से मतलब◾पीेएम मोदी ने पूर्वांचल को दी 10 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं की सौगात, सपा के लिए कही ये बात◾सदन में पैदा हो रही अड़चनों के लिए सरकार जिम्मेदार : मल्लिकार्जुन खड़गे◾UP चुनाव में BJP कस रही धर्म का फंदा? आनन्द शुक्ल बोले- 'सफेद भवन' को हिंदुओं के हवाले कर दें मुसलमान... ◾नगालैंड गोलीबारी केस में सेना ने नगारिकों की नहीं की पहचान, शवों को ‘छिपाने’ का किया प्रयास ◾विवाद के बाद गेरुआ से फिर सफेद हो रही वाराणसी की मस्जिद, मुस्लिम समुदाय ने लगाए थे तानाशाही के आरोप ◾लोकसभा में बोले राहुल-मेरे पास मृतक किसानों की लिस्ट......, मुआवजा दे सरकार◾प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों को दी कड़ी नसीहत-बच्चों को बार-बार टोका जाए तो उन्हें भी अच्छा नहीं लगता ...◾

US के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारियों ने कोरोना से मुकाबला करने के लिए लोगों से वैक्सीन लगवाने का किया आग्रह

अमेरिका के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारियों ने मंगलवार को कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए अमेरिकी सीनेट स्वास्थ्य, शिक्षा, श्रम और पेंशन समिति के सामने अपना पक्ष रखा और लोगों से टीकाकरण कराने का अनुरोध किया।सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एलर्जी एंड इंफेक्शियस डिजीज ऑफ हेल्थ के निदेशक एंथनी फौसी ने कहा, "हम कोरोनोवायरस के साथ एक नाजुक मोड़ पर हैं और हमें किसी सामान्य स्थिति में वापस लाने के लिए जारी टीकाकरण पर निर्भर होना होगा।"

फौसी ने कहा,"हम वैक्सीन और वायरस के बीच एक दौड़ में हैं। इस देश में और विश्व स्तर पर अब तक के अनुभव के आधार पर कोरोनावायरस के मामले बढ़ते रहेंगे। "शीर्ष संक्रामक रोग विशेषज्ञ ने नोट किया "मुझे यकीन है कि अगर हम लोगों का उसी दर से टीकाकरण जारी रखेंगे जैसा कि हम कर रहे हैं, तो हम बहुत जल्द ऐसी स्थिति पैदा में होंगे, जहां इस देश में बहुत कम संक्रमण होगा और फिर हम सामान्य रूप में वापस लौटने लगेंगे।"

रोग नियंत्रण और रोकथाम के लिए अमेरिकी केंद्र (सीडीसी) के निदेशक रोशेल वालेंस्की ने फौसी का समर्थन किया, जिससे सभी को एक कोविड -19 वैक्सीन प्राप्त करने के लिए जल्द से जल्द 'इस महामारी' को समाप्त करने का एक तरीका मिल सके।उन्होंने माता-पिता से अनुरोध किया कि वे अपने बच्चों को टीकाकरण करवाएं कि यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने 12-15 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए फाइजर-बायोनटेक शॉट को अधिकृत किया है।

वालेंसकी ने कहा, "मुझे गर्व है कि 261 मिलियन से ज्यादा वैक्सीन खुराक के लिए प्रशासन को रिपोर्ट किया गया है" उन्होने कहा कि 65 से अधिक आयु वर्ग के 84 प्रतिशत से अधिक और सभी वयस्क अमेरिकियों में से 58 प्रतिशत ने कम से कम एक वैक्सीन खुराक ली है।

उन्होंने कहा, लेकिन 'विश्व स्तर पर, महामारी पहले से कहीं अधिक गंभीर है' उन्होंने कहा, "मामलों की वृद्धि (भारत में) दुखद है और एक चेतावनी है कि वायरस तेजी से हमारे प्रयासों को विफल कर सकता है। अगर हम सावधान नहीं हैं, तो हम कोविड से लड़ने के लिए दुनिया भर के देशों के साथ हाथ से हाथ मिलाए बिना इस महामारी को खत्म नहीं कर पाएंगे।'

वालेंसकी ने कहा कि हर अमेरिकी को टीका लगाने के प्रयास को जारी रखने के साथ ही, "हमें सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों को भी बनाए रखना चाहिए।"संघीय प्रशासन के कोविड -19 प्रतिक्रिया के मुख्य विज्ञान अधिकारी डेविड केसलर ने चिंता व्यक्त की कि अकेले टीकाकरण के प्रयासों से महामारी खत्म नहीं होगी।

उन्होंने कहा, "मुझे इस बात की चिंता है कि हमने टीकाकरण के इच्छुक अधिकांश लोगों का टीकाकरण पूरा कर दिया है उसके बावजूद भी इस गर्मी में अभी तक कोरोना मामले और मौतों की एक अस्वीकार्य संख्या सामने आ रही है।"

गुजरात : कोरोना देखभाल केंद्र में लगी आग, 61 मरीजों को दूसरे अस्पतालों में किया गया शिफ्ट