BREAKING NEWS

दिल्ली पुलिस ने कोर्ट से कहा : प्रधानमंत्री के खिलाफ महज ‘अपमानजनक’ शब्द का इस्तेमाल राजद्रोह नहीं ◾वित्त मंत्री सीतारमण बोली- कर्ज देने के लिये NBFC के साथ 400 जिलों में खुली बैठकें करेंगे बैंक◾यादवपुर विश्वविद्यालय में बाबुल सुप्रियो के साथ धक्का-मुक्की, राज्यपाल परिसर में पहुंचे ◾आरकेएस भदौरिया अगले होंगे एयरफोर्स चीफ◾चंद्रयान- 2 : नासा को मिली विक्रम लैंडर की अहम तस्वीरें, जल्द मिलेगी बड़ी खबर◾डेविड कैमरन का खुलासा : भारत के पूर्व प्रधानमंत्री ने PAK के खिलाफ सैन्य कार्रवाई के बारे में बताया था ◾TOP 20 NEWS 19 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ढाई साल में ढाई कोस भी नहीं चल पाई योगी सरकार : अखिलेश यादव◾अमेरिका में संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे PM मोदी : विजय गोखले◾नासिक में बोले मोदी-राम मंदिर का मामला जब सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है तो न्याय प्रणाली पर भरोसा रखें◾INX मीडिया : 3 अक्टूबर तक बढ़ाई गई चिदंबरम की न्यायिक हिरासत◾CM ममता ने गृह मंत्री अमित शाह से की मुलाकात, NRC मुद्दे पर की चर्चा ◾'हाउडी मोदी' के लिए उत्साहित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, कर सकते है हिंदुस्तान के लिए बड़ा ऐलान ◾प्रियंका गांधी बोली - चिन्मयानंद मामले में भी उन्नाव की तरह आरोपी को संरक्षण दे रही भाजपा सरकार◾रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने तेजस में भरी उड़ान, कहा- मेरे लिए गर्व की बात◾UP : योगी सरकार के ढाई वर्ष पूरे, प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री ने गिनाई उपलब्धियां◾झारखंड कांग्रेस को बड़ा झटका, पूर्व प्रमुख अजय कुमार AAP में हुए शामिल ◾राहुल और सोनिया के खिलाफ सावरकर के पोते की शिकायत पर कोर्ट ने दिए जांच के आदेश◾चिन्मयानंद मामला : पीड़ित छात्रा की चेतावनी, कहा-गिरफ्तारी नहीं हुई तो कर लूंगी आत्महत्या◾UP : योगी सरकार के ढाई साल पूरे, आज कर सकते है नई योजनाओ का अनावरण ◾

विदेश

अमेरिका ताइवान को हथियारों की प्रस्तावित बिक्री ‘तत्काल रद्द’ करे : चीन

बीजिंग : चीन ने ताइवान को युद्धक टैंकों और विमान भेदी मिसाइलों समेत 2.2 अरब डॉलर के हथियारों की प्रस्तावित बिक्री संबंधी समझौते को ‘‘तत्काल रद्द’’ किये जाने की अमेरिका से मंगलवार को मांग की। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने एक नियमित संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘अमेरिका द्वारा ताइवान को हथियारों की बिक्री...एक-चीन सिद्धांत का गंभीर उल्लंघन करता है... चीन के आंतरिक मामलों में व्यापक रूप से हस्तक्षेप करता है और चीन की संप्रभुता तथा सुरक्षा हितों को कमजोर करता है।’’ गेंग ने कहा कि चीन पहले ही कूटनीतिक माध्यमों से इस कदम के लिए ‘‘घोर असंतोष और कड़ा विरोध’’ व्यक्त करते हुए औपचारिक शिकायतें दर्ज करा चुका हैं।

 उन्होंने कहा, ‘‘चीन अमेरिका से आग्रह करता है कि वह चीन-अमेरिका संबंधों को नुकसान पहुंचने से बचाने के लिए तुरन्त ताइवान को हथियारों की प्रस्तावित बिक्री को रद्द करे और उसके साथ सैन्य संबंध भी खत्म करे।’’ अमेरिकी रक्षा सुरक्षा सहयोग एजेंसी (डीएससीए) के अनुसार इस सौदे में 108 एम1ए2टी एब्राम टैंक, 250 ‘स्टिंगर पोर्टेबल एंटी-एयरक्राफ्ट मिसाइल’ और संबंधित उपकरण शामिल हैं।

 इस बीच ताइवान के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘ताइवान चीन के महत्वाकांक्षी प्रसार की सीमा में खड़ा है और बीजिंग से भारी खतरों और दबाव का सामना कर रहा है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘एम1ए2 टैंक और विभिन्न मिसाइलों की यह बिक्री हमारी रक्षात्मक क्षमताओं को बढ़ाने में बहुत सहायता करेगी।’’ 

ताइवानी सेना के लेफ्टिनेंट जनरल यांग हेई-मिंग ने पत्रकारों से कहा, ‘‘एम1ए2 टैंक काफी विश्वसनीय हैं और हमारे युद्धाभ्यास के कारण हमारी जमीनी रक्षा का एक अनिवार्य हिस्सा बन जायेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारे पुराने टैंकों के स्थान पर एम1ए2 टैंकों के आने से हमारी रक्षा क्षमता तेजी से और प्रभावी ढंग से बढ़ेगी।’’