BREAKING NEWS

जिस गठबंधन में शिवसेना और अकाली दल नहीं, मैं उसको NDA नहीं मानता : संजय राउत◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 60 लाख के करीब, पिछले 24 घंटे में 1124 लोगों की मौत◾राहुल गांधी का PM मोदी पर तंज- काश, कोविड एक्सेस स्ट्रैटेजी ही मन की बात होती◾क्या ड्रग चैट्स का होगा खुलासा, एनसीबी ने दीपिका, सारा और श्रद्धा के फोन किए जब्त ◾पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का निधन, पीएम मोदी ने शोक व्यक्त किया◾पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती कोरोना से संक्रमित, खुद को किया क्वारनटीन◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामलों का आंकड़ा 3 करोड़ 26 लाख और 9 लाख 90 हजार से अधिक की मौत◾एनआईए ने पश्चिम बंगाल से अल-कायदा के 10वें आतंकवादी समीम अंसारी को किया गिरफ्तार ◾आज का राशिफल (27 सितम्बर 2020)◾महागठबंधन में फूट : कांग्रेस बोली - मिले सम्मानजनक सीट नहीं तो 243 सीटों पर लड़ेंगे◾कृषि विधेयकों के मुद्दे पर अकाली दल ने NDA से तोड़ा 22 साल पुराना गठबंधन◾PM मोदी ने श्रीलंका में अल्पसंख्यक तमिलों के लिये सत्ता में भागदारी की हिमायत की◾देश के हितों की रक्षा करने में अपने सशस्त्र बलों की क्षमता पर विश्वास करने की जरूरत है : जयशंकर ◾KKR vs SRH (IPL 2020) : केकेआर ने सनराइजर्स हैदराबाद को 7 विकेट से हराया◾देश में कोरोना वायरस का कहर जारी, संक्रमितों की संख्या 60 लाख के करीब पहुंची◾UN के मंच से पीएम मोदी की नसीहत, कोरोना महामारी से निपटने में संयुक्त राष्ट्र कहां है? ◾संयुक्त राष्ट्र के मंच से पीएम मोदी का संबोधन: UN की निर्णायक इकाई से भारत को आखिर कब तक दूर रखा जाएगा◾अमित शाह ने लद्दाख के जन प्रतिनिधियों से की मुलाकात◾ड्रग केस : श्रद्धा कपूर, सारा अली खान से एनसीबी की पूछताछ खत्म, किसी को नया समन नहीं भेजा गया ◾राहुल ने किया केंद्र से आग्रह : प्रस्तावित कृषि कानूनों को वापस ले सरकार, एमएसपी की गारंटी दे◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

हमें कश्मीर पर भारत के रुख को लेकर कोई शंका नहीं है : रूसी राजदूत

भारत में रूस के राजदूत निकोले कुदाशेव ने शुक्रवार को कहा कि रूस यह जानने को उत्सुक नहीं है कि कश्मीर में क्या हो रहा है और जिन्हें इस क्षेत्र के लिए नयी दिल्ली की नीति और घाटी की स्थिति को लेकर संदेह है, वे वहां का दौरा कर सकते हैं। 

उन्होंने यह बयान एक संवाददाता सम्मेलन में उस समय दिया जब उनसे सवाल किया गया कि वह अमेरिकी राजदूत केनेथ जस्टर सहित 15 विदेशी दूतों के समूह में शामिल क्यों नहीं थे, जिन्होंने पिछले सप्ताह जम्मू-कश्मीर का दौरा किया था। 

बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कश्मीर मुद्दा उठाने के चीन के असफल प्रयास पर रूसी राजदूत ने कहा कि मास्को कभी भी इस पक्ष में नहीं रहा है कि इसे वैश्विक निकाय में ले जाया जाए क्योंकि यह भारत और पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय मामला है। 

दूतों की जम्मू कश्मीर यात्रा के संदर्भ में उन्होंने कहा कि रूस को यह जानने में कोई रुचि नहीं है कि केंद्र शासित प्रदेश में क्या हो रहा है क्योंकि इस क्षेत्र के लिए भारत के दृष्टिकोण पर उसे कोई संदेह नहीं है।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं लगता कि मेरे वहां जाने का कोई कारण था। जम्मू कश्मीर पर भारत का निर्णय इसका आंतरिक मामला है जो भारत के संवैधानिक दायरे से संबंधित है।’’ 

उन्होंने कहा, Òयह हमारे द्विपक्षीय संबंधों में कोई मुद्दा नहीं है। जो लोग मानते हैं कि यह एक मुद्दा है, जो लोग कश्मीर की स्थिति को लेकर चिंतित हैं, जिन्हें कश्मीर में भारतीय नीति के बारे में संदेह है, वे कश्मीर की यात्रा कर सकते हैं। वे खुद देख सकते हैं। हमें कभी कोई संदेह नहीं था।’’ 

कुदाशेव ने साथ ही कहा कि उन्हें यात्रा के लिए आधिकारिक निमंत्रण नहीं मिला था। उन्होंने कहा, Òमेरा विचार है कि भारत में रूसी राजदूत को किसी भी ऐसी गतिविधियों से नहीं जुड़ना चाहिए जिससे भारत की आंतरिक नीतियों को लेकर संदेह पैदा होता है। यह हमारी आदत में नहीं है।’’ 

यह पूछे जाने पर कि क्या आमंत्रित किए जाने पर वह कश्मीर का दौरा करना चाहेंगे, उन्होंने मजाकिया लहजे में जवाब दिया: 'हां, मैं करूंगा।' 

कुदाशेव ने बताया कि विदेश मंत्री एस. जयशंकर रूस-भारत-चीन त्रिपक्षीय बैठक में भाग लेने के लिए 22 और 23 मार्च को रूस जाएंगे। 

सुरक्षा परिषद में कश्मीर मुद्दा उठाने की चीन की कोशिशों पर कुदाशेव ने कहा कि उनके देश ने कभी भी ऐसे कदम का समर्थन नहीं किया है। 

उन्होंने कहा कि शिमला समझौते और लाहौर घोषणापत्र के आधार पर यह पूरी तरह से भारत और पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय मामला है।’’