BREAKING NEWS

डॉक्टरों के साथ दुर्व्यवहार करने वालों के खिलाफ की जाएगी सख्त कार्रवाई : CM केजरीवाल◾शिया वक्फ बोर्ड ने तबलीगी जमात पर लगाया गंभीर आरोप, कहा- 1 लाख से ज्यादा लोग मारने की बनाई थी योजना◾कोरोना वायरस : स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में आवश्यक उपकरणों का स्टॉक मौजूद, PPE और वेंटिलेटर की खरीद शुरु◾देश में कोरोना फैलने के लिए अनिल देशमुख ने दिल्ली पुलिस को ठहराया जिम्मेदार◾कोरोना संकट से जारी जंग में मदद के तौर पर केंद्र सरकार ने राज्यों के लिए आपात पैकेज की दी मंजूरी◾महाराष्ट्र कैबिनेट ने उद्धव ठाकरे को MLC बनाने का लिया निर्णय, राज्यपाल को भेजेंगे प्रस्ताव ◾कोरोना संकट : ओडिशा सरकार ने 30 अप्रैल तक बढ़ाई लॉकडाउन की अवधि, केंद्र से किया ये अनुरोध◾गुजरात में कोरोना के 55 नए मरीज, अकेले अहमदाबाद के 50 लोग हुए संक्रमित◾PM मोदी ने किया ट्रम्प का समर्थन, कहा- मुश्किल वक्त ही दोस्तों को लाती है करीब◾जमात प्रमुख मौलाना साद के ठिकाने का हुआ खुलासा, पुलिस फिलहाल नहीं करेगी पूछताछ ◾झारखंड में कोरोना वायरस से 1 की मौत, मरीजों की संख्या एक दिन में तिगुनी हुई ◾Coronavirus : अमेरिका में मरने वालों की संख्या 14000 के पार, 11 भारतीयों के मौत की पुष्टि◾चीन में कोविड-19 के 63 नए मामलें सामने आए, अबतक करीब 3,335 लोगों की हुई मौत ◾पूरे विश्व कोरोना वायरस का कहर जारी, अब तक वायरस से संक्रमितों की संख्या 15 लाख से अधिक हुई ◾कोविड-19 : देश में 5,734 संक्रमित मामलों की पुष्टि वहीं 166 लोगों की अब तक मौत◾Covid-19 : दवा मिलने पर भारत के फैसले से डोनाल्ड ट्रम्प के सुर बदले नजर आए, कहा- थैंक्यू PM मोदी ◾कोरोना संकट : सरकार ने 20 करोड़ महिलाओं के जनधन खातों में पांच-पांच सौ रूपये की सहायता राशि डाली ◾देश में कोरोना का कहर जारी, वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या पांच हजार के पार,140 से ज्यादा लोगों की मौत◾जमात के कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों के खिलाफ होगा मामला दर्ज, दिया हुआ समय-सीमा समाप्त : अनिल विज ◾Covid 19 : लखनऊ समेत 15 जिलों में चुनिंदा इलाकों को किया जायेगा सील◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaLast Update :

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भारत के सामने गिड़गिड़ाया चीन, कहा- हमें उम्मीद है कि भारत कोरोना वायरस संक्रमण की वस्तुपरक समीक्षा करेगा

चीन ने रविवार को उम्मीद जताई कि भारत उसके देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण पैदा हो रही स्थिति की समीक्षा ‘‘वस्तुपरक एवं तर्कसंगत’’ तरीके से करेगा और द्विपक्षीय व्यापार एवं लोगों का आवागमन बहाल करेगा। 

चीन के कई परमार्थ संगठनों और कुछ चिकित्सकीय संस्थानों ने दावा किया है कि भारत ने चीन में कोरोना वायरस संक्रमण के कारण वहां चिकित्सकीय उत्पादों का निर्यात प्रतिबंधित कर दिया है। इन्हीं दावों के मद्देनजर चीनी दूतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने यह बयान दिया है। 

जी ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कोरोना वायरस संक्रमण के बाद चीन में हर प्रकार के यात्रा एवं व्यापार प्रतिबंधों का कई बार विरोध किया है और सभी पक्षों को संगठन की सिफारिशों का पालन करना चाहिए। 

उन्होंने कहा, ‘‘यह उम्मीद की जाती है कि भारत वस्तुपरक, तर्कसंगत एवं शांत रहकर संक्रमण संबंधी हालात की समीक्षा करेगा, चीन की अत्यावश्यक सामग्रियों को लेकर सहयोगात्मक एवं रचनात्मक तरीके से व्यवहार करेगा और दोनों देशों के बीच व्यापार एवं कर्मियों का सामान्य आदान-प्रदान शीघ्र अति शीघ्र बहाल करेगा।’’ 

इस मामले में भारत सरकार ने तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। 

चीन के राजदूत सुन वीदोंग ने पिछले सप्ताह भारत से अपील की थी कि वह व्यापार और लोगों के आवागमन पर लगाए गए प्रतिबंधों की समीक्षा करे। 

देश की लगभग सभी विमानन कंपनियों ने चीन जाने वाली उड़ानें रोक दी हैं और चीनी नागरिकों को जारी किए गए सभी ई-वीजा और सामान्य वीजा रद्द कर दिए हैं। 

सरकारी सूत्रों ने शनिवार को कहा था कि चीन कोरोना वायरस से प्रभावित लोगों के लिए राहत सामग्री लेकर जाने और वुहान में रह रहे और भारतीयों को वापस लाने के लिए भारतीय वायु सेना का विमान भेजने के भारत के प्रस्ताव को मंजूरी देने में ‘‘जानबूझकर देरी’’ कर रहा है। 

उन्होंने कहा था कि जापान, यूक्रेन और फ्रांस की उड़ानों को वुहान से संचालन की अनुमति दी गई लेकिन भारत को मंजूरी नहीं दी गई। 

एअर इंडिया दो अलग-अलग उड़ानों में वुहान से पहले ही करीब 640 भारतीयों को निकाल चुका है। एक अनुमान के मुताबिक, वुहान में अभी 100 से अधिक भारतीय अब भी फंसे हुए हैं। 

चीनी स्वास्थ्य अधिकारियों के अनुसार चीन में कोरोना वायरस से 2,442 से अधिक लोगों की मौत हो गई है और 76,936 लोग इससे संक्रमित हैं।