चीन में एक महीने के भीतर अफ्रीकी स्वाइन बुखार के 14 मामले सामने आए हैं। पहला मामला पूर्वोत्तर के शेनयांग से सामने आया था। अफ्रीकी स्वाइन बुखार के बारे में जागरुकता की कमी से वजह से यहां के किसान इसे अफवाह और फर्जी खबर बता रहे है। लोगों के जागरुक न होने के कारण संक्रामक बीमारी को नियंत्रित करने में प्रशासन को काफी मुश्किलों का सामना कर रहा है।

अफ्रीकी स्वाइन बुखार का वायरस खतरनाक है जोकि सुअर के मांस और सुअरों के खाने में महीनों तक जीवित रहता है, हालांकि यह मनुष्यों के लिए हानिकारक नहीं है। वायरस को फैलने से रोकने के लिए अधिकारियों ने प्रभावित क्षेत्रों से और उसके माध्यम से जिंदा सुअरों के कहीं लाने-ले जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिससे कुछ क्षेत्रों में कीमतें बढ़ रही हैं। चीन में औद्योगिक सुअर उत्पादकों ने अपने गोदाम को बंद कर दिया है।