म्यांमार से 2.70 लाख रोहिंग्याओं का पलायन


जेनेवा: संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजैंसी यूएनएचसीआर ने कहा कि पिछले दो सप्ताह में म्यांमार से करीब दो लाख 70 हजार रोहिंग्या शरणार्थियों का पलायन हुआ है। यूएनएचसीआर ने कल कहा कि म्यांमार से पलायन करने वाले ज्यादातर रोहिंग्या मुसलमान बंगलादेश आए हैं। ये लोग बंगलादेश के दो शिविरों में रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि बंगलादेश के कॉक्स बाजार के दो शरणार्थी शिविरों में 25 अगस्त से पूर्व 34 हजार रोहिंग्या मुस्लिम रह रहे थे लेकिन बीते दो सप्ताहों में यहां पर शरणार्थियों की संख्या 70 हजार को पार कर गई है। वहां पर लोगों के रहने के लिए जमीन और छतें तक कम पड़ गई हैं। आने वाले शरणार्थियों में बड़ी संख्या महिलाओं की है।

संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है कि भागकर आए लोगों की संख्या तीन लाख तक पहुंच सकती है। वहीं म्यांमार का कहना है कि पिछले साल अक्तूबर में पुलिस और सेना पर हुए आतंकवादी हमले के खिलाफ अभियान चलाया जा रहा है। म्यांमार के अधिकारियों का कहना है कि रोहिंग्या ने दूसरे धर्मों के अनुयायियों की हत्या की है तथा उनके घरों को जलाया है।संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने कहा कि अमेरिका म्यांमार के रखाइन राज्य में खराब होती स्थिति को लेकर ‘बहुत अधिक चिंतित’ है। उल्लेखनीय है कि संयुक्त राष्ट्र की प्रवासियों संबंधी एक एजेंसी ने इस बात की पुष्टि की है कि पिछले दो सप्ताह में 2,70,000 लोग देश छोड़कर बंगलादेश गए हैं।