अमेरिका, एशिया के लिए अहम सहयोगी है भारत : कृष्णमूर्ति


वाशिंगटन : भारतीय मूल के कांग्रेस सदस्य राजा कृष्णमूर्ति का कहना है कि भारत के साथ संबंधों में निवेश करने से एशिया में अमेरिका का आर्थिक एवं रणनीतिक कद मजबूत होगा। कृष्णमूर्र्ति ने सोमवार को प्रतिनिधि सभा में कहा कि इस सप्ताह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अमेरिका यात्रा ने ” अमेरिका और भारत के बीच बढ़ते मैत्रीपूर्ण संबंधों” का जश्न मनाने का अवसर दिया।

आर्थिक और रणनीतिक कद को मिलेगी मजबूती
कृष्णमूर्ति ने कहा, “भारत अमेरिका और एशिया के लिए एक अहम सहयोगी है।” उन्होंने कहा, “विश्व के दो सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच द्विपक्षीय संबंध में निवेश करने से क्षेत्र में हमारे आर्थिक और रणनीतिक कद को मजबूती मिलेगी।” इलिनोइस से सांसद कृष्णमूर्ति ने कहा कि भारत और अमेरिका ने ऊर्जा, सुरक्षा पर सहयोग करने, जलवायु परिवर्तन से निपटने और हरित अर्थव्यवस्था विकसित करने में सहयोग करने का संकल्प लिया है। ये अवसर दोनों ही देशों में रोजगार का सृजन करेंगे।

उन्होंने कहा, “मोदी की यात्रा उस कार्य का जश्न मनाने का अवसर थी, जिसे ये दोनों देश पूरा कर चुके हैं, और जिसे उन्हें भविष्य में एकसाथ मिलकर अंजाम देना है।” कृष्णमूर्ति ने कहा, “मैं इस बात से खुश हूं कि हम लगभग 70 साल पुरानी साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए काम कर रहे हैं और आने वाले दशकों में इससे भी अधिक मजबूत संबंध की नींव तैयार कर रहे हैं। “