ट्रंप की रूस पर प्रतिबंध लगाने संबंधी विधेयक पर हस्ताक्षर करने की योजना है : व्हाइट हाउस


donald trump

वाशिंगटन  :अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की रूस, ईरान और उथर कोरिया पर कड़े प्रतिबंध लगाने वाले विधेयक पर हस्ताक्षर करने की योजना है। विधेयक को इस सप्ताह कांग्रेस में पारित कर दिया गया। इस विधेयक में प्रावधान है कि ट्रंप कांग्रेस की अनुमति के बगैर रूस पर से प्रतिबंध न तो हटा सकेंगे और न ही कम कर सकेंगे। व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा कि ट्रंप ने विधेयक के शुरऊआती मसौदे के महत्वपूर्ण आयामों पर बातचीत की तथा अपनी बातचीत के प्रति जवाबदेही के आधार पर अंतिम मसौदे को मंजूरी दे दी। सीनेट ने दो के मुकाबले 98 मतों से विधेयक पारित कर दिया। इससे दो दिन पहले प्रतिनिधि सभा ने तीन के मुकाबले 419 मतों से विधेयक पारित कर दिया था।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कल देर रात एक बयान में कहा, राष्ट्रपति डोनाल्ड जे ट्रंप ने विधेयक के शुरऊआती मसौदे को पढ़ा तथा इसके महत्वपूर्ण आयामों के संबंध में बातचीत की। सैंडर्स ने यह नहीं बताया कि कब तक इस विधेयक पर हस्ताक्षर हो जाएंगे। उन्होंने कहा, वह अब अंतिम मसौदे की समीक्षा कर रहे हैं तथा उनकी बातचीत के प्रति जवाबदेही के आधार पर विधेयक को मंजूरी दे दी तथा उनकी मंशा इस पर हस्ताक्षर करने की है।

नए प्रतिबंध लगाने की बात ऐसे समय में चल रही है जब ट्रंप अभियान और रूस के बीच संबंधों को लेकर चल रही कई जांचों से व्हाइट हाउस घिरा हुआ है।
इस विधेयक से रूस के साथ संबंध सुधारने की ट्रंप की क्षमता सीमित हो सकती है। ट्रंप ने अपने सहयोगियों और रूस के बीच किसी तरह की मिलीभगत से इनकार किया है। रूस के अलावा इस विधेयक में यह भी सुनिश्चित किया गया है कि आतंकवाद को समर्थन देना जारी रखने के लिए ईरान को नतीजा भुगतना पड़े तथा इसमें उथर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर लगाम लगाने के प्रावधान भी शामिल है।