अमेरिका में टेक्सास के विलसन काउंटी क्षेत्र के एक चर्च में एक बंदूकधारी ने अंधाधुंध गोलीबारी कर कम से कम 26 लोगों को मौत के घाट उतार दिया और कई अन्य को घायल कर दिया। यह हमला सैन एंटोनियो के पूर्व में 65 किलोमीटर दूर सदरलैंड स्प्रिंग्स के विलसन काउंटी क्षेत्र में फर्स्ट बैपटिस्ट चर्च में हुआ।

स्थानीय समय के अनुसार सुबह 11:30 बजे चर्च में प्रार्थना सभा के दौरान हुई इस वारदात को अंजाम देने वाले एकमात्र संदिग्ध ने चर्च में घुसते ही राइफल से अंधाधुंध गोलीबारी शुरु कर दी कानून प्रवर्तन अधिकारियों ने बताया कि पीड़ितों की उम्र पांच से 72 वर्ष के बीच है। टेक्सास जन सुरक्षा विभाग के क्षेत्रीय निदेशक फ्रीमैन मार्टीन ने कहा कि गोलीबारी के बाद जब संदिग्ध अपने वाहन से भागने लगा तो एक स्थानीय व्यक्ति ने राइफल से उसपर गोली चलाई जिसमें वह मारा गया।

श्री मार्टिन ने कहा कि संदिग्ध हमलावर एक गोरा युवा है जिसकी उम्र 20 से 30 के बीच है। उन्होंने कहा कि वो काले कपड़े में था। पुलिस के मुताबिक घटना के कुछ देर बाद ही संदिग्ध का वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया। बाद में वह वाहन में मृत पाया गया और उसके वाहन से हथियारों का जखीरा भी बरामद किया गया।

हालांकि अभीतक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि हमलावर ने खुद को गोली मार ली या फिर चर्च के बाहर से एक स्थानीय व्यक्ति द्वारा चलाई गई गोली से संदिग्ध मारा गया। पुलिस इस बात की पड़ताल कर रही है। इस बीच, 12 दिनों के एशिया दौरे पर गए अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि वह पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। श्री ट्रंप ने ट्वीट किया,’भगवान सदरलैंड स्प्रिंग्स, टेक्सास के लोगों का साथ दे। एफ़बीआई और पुलिस मौके पर है। मैं जापान से घटना पर नजर रखे हुए हूं।’