फेसबुक पर गलत पोस्ट डालने की अफवाह के बाद भीड़ ने बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के 30 घरों को आग लगा दी जबकि हिंसक भीड़ को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने गोली चलायी जिससे इस हादसे में कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गयी। ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार यह घटना राजधानी से लगभग 300 किलोमीटर दूर रंगपुर जिले के ठाकुरपाड़ा गांव में हुई। आगजनी कर रही भीड़ को तितर बितर करने के लिए पुलिस ने गोली चलायी जिससे कम से कम एक व्यक्ति की मौत हो गयी।

रिपोर्ट के अनुसार स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस ने रबड की गोलियां चलायी और आंसु गैस के गोले छोडे जिसमें पांच लोग घायल हो गए। रिपोर्ट के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने दावा किया था कि ठाकुरबाडी गांव के रहने वाले एक व्यक्ति ने कुछ दिन पहले फेसबुक पर अपमानजनक पोस्ट किया था और वे इससे व्यथित थे। इसमें यह भी कहा गया है कि पुलिस के आने से पहले प्रदर्शनकारियों ने हिंदू समुदाय के 30 घरों के आग के हवाले कर दिया और लूटपाट की।

रिपोर्ट के अनुसार के आगजनी की घटना के पहले आस पास के छह सात गांवों के तकरीबन 20 हजार लोग मौके पर एकत्रित हो गए थे। इसमे कहा गया है कि पुलिस को प्रदर्शनकारियों से निपटने तथा क्षेत्र में कानून व्यवस्था बहाल करने में दिक्कत हो गई थी। इसमें कहा गया है कि गोलीबारी में घायल लोगों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।