साइबर हमले का खतरा मंडराया


सोमवार को कार्य-सप्ताह शुरू होने पर दुनियाभर के दो लाख से ज्यादा कंपनियों और लोगों पर साइबर अटैक पड़ सकता है बहुत भारी यह साइबर अटैक नए संकट का ले सकता है यह साइबर अटैक दुनिया का सबसे बड़ा हमाला है जिसमे 150 से भी ज्यादा देशो में अपराधियों ने निशाना बनाया साइबर अटैक के लोग फिरौती की मांग वसूल कर रहै है।

यह सिलसिला शुक्रवार को शुरू हुआ साइबर हमलों इसने बैंकों से ले कर अस्पताल तक और निजी कंपनियों से ले कर सरकारी एजेंसियों तक सबको धड़ाधड़ अपना निशाना बनाया। इसने माइक्रोसॉफ्ट की पुरानी ऑपरेटिंग सिस्टम (ओएस) की कमजोरियों को फायदा उठाया।

इन साइबर हमलों की जद में आने वालों में अमेरिकी कूरियर कंपनी फेडएक्स, यूरापीय कार कंपनियां, स्पेनी दूरसंचार दिग्गज टेलीफोनिका, ब्रिटेन की स्वास्थ्यसेवा और जर्मनी का ड्योश रेल नेटवर्क प्रमुख हैं। यूरापीय संघ की पुलिस एजेंसी ‘यूरोपोल’ के कार्यकारी निदेशक रॉब वेनराइट ने कहा है कि सप्ताहांत की छुट्टियां गुजार कर सोमवार को जब कर्मी अपने दफ्तर लौटेंगे और अपने अपने कंप्यूटरों पर लॉग-इन करेंगे तो हालात और बिगड़ सकते हैं।