ब्रिटेन में विस्फोट के मामले में संदिग्धों की तलाश तेज , IS ने ली विस्फोट की जिम्मेदारी


लंदन : लंदन में लोगों से भरी हुई एक ट्यूब ट्रेन में विस्फोट के मद्देनजर ब्रिटेन में आंतकी खतरे का स्तर बढ़ाकर अत्यंत गंभीर कर दिया गया है और स्कॉटलैंड यार्ड ने इस मामले में शामिल संदिग्धों की तलाश के प्रयास तेज कर दिए हैं। पार्सन्स ग्रीन स्टेशन में कल एक आईईडी विस्फोट में 29 लोग घायल हो गए थे। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी।

मेट्रोपोलिटन पुलिस सहायक आयुक्त मार्क रॉले ने कहा कि पुलिस संदिग्धों की तलाश कर रही है। खुफिया पुलिस ने बम रखने वाले संदिग्ध का पता लगाने के लिए स्टेशन और ट्रेन की सीसीटीवी तस्वीरों की मदद ली है और उसकी पहचान करने के प्रयास जारी हैं। पिछले 11 वर्षों में यह चौथी बार है जब आतंकवाद के खतरे का स्तर बढ़ाकर अत्यंत गंभीर किया गया है।

ब्रिटेन की प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने आंतक के जोखिम के स्तर को बढ़ाकर अत्यंत गंभीर किए जाने की घोषणा की यानि दूसरा हमला होने की आशंका है। उन्होंने कहा, उन कुछ संरक्षित स्थानों की सुरक्षा के लिए गार्ड ड्यूटी पर सशस्त्र पुलिस की जगह सैन्यकर्मियों को तैनात किया जाएगा जहां आम लोग नहीं जा सकते। टेरीजा ने कहा, आम लोग कल से परिवहन नेटवर्क और सड़कों पर ज्यादा संख्या में सशस्त्र पुलिस देखेंगे, जो अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराएंगे। यह एक उचित और समझदारी भरा कदम है जो अतिरिक्त आश्वासन और सुरक्षा उपलब्ध कराएगा।

इस्लामिक स्टेेट ने ली लंदन विस्फोट की जिम्मेदारी
ब्रिटेन की राजधानी लंदन में एक भूमिगत रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को हुए विस्फोट की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट(आईएस) ने ली है। आईएस की आधिकारिक समाचार एजेंसी ‘अमाक’ ने यह जानकारी दी। पश्चिमी लंदन के भूमिगत पारसंस ग्रीन ट्यूब रेलवे स्टेशन पर कल एक विस्फोट हुआ जिसमें 22 लोग घायल हो गए।