हैम्बर्ग के सुपरमार्केट में चाकू से किए गए हमले में एक की मौत, छह घायल


हैम्बर्ग : जर्मनी में शरण मांगने में नाकाम रहे एक व्यक्ति ने हैम्बर्ग के सुपरमार्केट में अल्लाहू अकबर  का नारा लगाते हुए दुकानदारों पर हमला किया, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गयी और छह अन्य घायल हो गये। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आसपास के लोगों ने हमलावर को काबू में कर लिया।
मेयर ओलाफ शोल्ज ने हमले को घृणा से प्रेरित बताया। उन्होंने कहा, यह बात मुझे खासतौर पर क्षुब्ध करती है कि अपराधी वही व्यक्ति प्रतीत होता है जिसने जर्मनी में शरण मांगी और फिर वह हमसे नफरत करने लगा। अगर इस हमले की इस्लामिक हमले के तौर पर पुष्टि हो जाती है तो दिसंबर की घटना के बाद यह जर्मनी में पहला ऐसा मामला है।

19 दिसंबर को बर्लिन के एक कार्यक्रम बाजार में ट्यूनिशिया के अनीस आमरी ने भीड़ को ट्रक घुसा दिया था। इस घटना में 12 लोगों की मौत हो गयी थी और 48 लोग घायल हो गये थे। पुलिस ने बताया कि 26 वर्षीय यह व्यक्ति संयुक्त अरब अमीरात में जन्मा था लेकिन पुलिस उसकी राष्ट्रीयता या हिंसा का कारण नहीं बता पाई। समाचार वेबसाइट स्पीगेल ऑनलाइन की रिपोर्ट के अनुसार व्यक्ति की पहचान जर्मनी में शरण मांगने के इरादे से आये अहमद ए। के तौर पर हुई है और उसने इस्लामी स्थल पर संपर्क किया था। इससे पहले उसके मनोरोग से ग्रस्त रहने और मादक पदार्थ के सेवन का इतिहास रहा है। जर्मनी में यह व्यक्ति शरण मांग रहा था। शोल्ज ने बताया कि हमलावर को उसके देश वापस भेजा जाना था लेकिन उसके पास आवश्यक दस्तावेजों की कमी के कारण यह प्रतिक्रिया रऊक गयी।