पिछले सप्ताह विश्व स्तर पर 20 हजार से ज्यादा कर्मचारियों द्वारा बहिष्कार कर दिए जाने के बाद गूगल ने यौन उत्पीड़न के मामलों का सही तरीके से निबटारा न कर पाने के कारण माफी मांगी और कंपनी को सुरक्षित कार्यस्थल बनाने के लिए बदलाव लाने का वादा किया। गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई ने गुरुवार को कर्मचारियों को लिखे एक नोट में कहा, ‘हम मानते हैं, हमने अतीत में सब चीजें सही नहीं की और उसके लिए हम ईमानदारी से माफी मांगते हैं।’

कंपनी में यौन उत्पीड़न और शीर्ष कार्यकारियों के खिलाफ यौन दुर्व्यवहार के आरोपों का निबटारा सही तरीके से न किए जाने के विरोध में गूगल कर्मचारियों ने बहिष्कार किया था।  पिचाई ने कहा, ‘पिछले कुछ हफ्तों से गूगल के शीर्ष अधिकारियों व मैंने आपके फीडबैक को सुना है और आपके द्वारा साझा की गई कहानियों पर आगे बढ़े हैं। यह स्पष्ट है कि हमें कुछ बदलावों की जरूरत है।’

उत्पीड़न के आरोपों का निबटारा अधिक पारदर्शिता के साथ करने का वादा करते हुए पिचाई ने कहा कि गूगल प्रतिनिधि के रूप में न्यायसंगत और आदरकारी कार्यस्थल बनने की अपनी प्रतिबद्धता पर दोगुनी मेहनत से कार्य करेगा।  गूगल सीईओ द्वारा घोषित महत्वपूर्ण परिवर्तनों में व्यक्तिगत यौन उत्पीड़न और यौन हमले के दावों के लिए मध्यस्थता को वैकल्पिक बनाना शामिल है।