सीरिया में संयुक्त राष्ट्र प्रस्ताव नहीं लागू होने की गुटेरेस ने की निंदा


संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने सोमवार को सीरिया में संघर्ष विराम की मांग करने वाले सुरक्षा परिषद प्रस्ताव को लागू करने में विफल रहने की निंदा की। प्रस्ताव 2401 के कार्यान्वयन पर सुरक्षा परिषद को सूचना देते हुए गुटेरेस ने कहा कि सीरिया में संघर्ष जारी है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने गुटेरेस के हवाले से कहा कि कुछ इलाकों में संघर्ष की तीव्रता में कमी हुई है लेकिन पूर्वी गौता, अफरीन, इदलिब, दमिश्क और उसके उपनगर में हिंसा जारी है। संयुक्त राष्ट्र प्रमुख ने कहा कि 24 फरवरी को प्रस्ताव स्वीकार करने के बाद विशेष रूप से विद्रोही नियंत्रण वाले पूर्वी गौता में हवाईहमले, गोलीबारी और जमीनी संघर्षो में वृद्धि हुई है, जिसमें सैकड़ों नागरिकों की मौत हुई।

प्रस्ताव में कम से कम 30 दिनों के लिए पूरे सीरिया में मानवीय सहायता और सेवाओं को ‘सुरक्षित, बेरोकटोक और निरंतर’ वितरण करने में सक्षम बनाने की मांग की गई है।

गुटेरेस ने कहा, ‘कुछ सीमित सहायता को भेजे जाने के बावजूद मानवीय सहायता सुरक्षित, अबाधित और निरंतर नहीं हो पा रही है।’ उन्होंने कहा, ‘मैं यहां सुरक्षा परिषद के प्रस्ताव 2401 के कार्यान्वयन पर सूचना देने के लिए आया हूं..कि सीरिया में रक्तपात आठवें साल में प्रवेश कर गया है।’

गुटेरेस ने कहा कि सभी मुश्किलों, विश्वास की कमी, पारस्परिक संदेह के बावजूद प्रस्ताव 2401 को लागू करना अभी भी संभव होना चाहिए। हम सीरियाई लोगों के बारे में सोचना होगा, हम मैदान नहीं छोड़ सकते। उन्होंने कहा, ‘मैं सभी पक्षों से पूरे सीरियाई इलाकों में प्रस्ताव 2401 को लागू करने की अपील करता हूं। संयुक्त राष्ट्र इसके लिए किसी भी सहायता के लिए तैयार है।’

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ।