लाहौरः मुंबई हमलों के मास्टर माइंड और अपने आपको कश्मीरियों का रहनुमा बताने वाले आंतकी हाफिज सईद ने अपने ही रक्षक पाकिस्तान सरकार को गिरफ्तार करने की चुनौती दी है। पाकिस्तान सरकार को चुनौती देते हुए सईद ने कहा कि वो कश्मीरी लोगों के लिए लड़ना बंद नहीं करेगा। लाहौर में एक रैली को संबोधित करते हुए सईद ने कहा, अगर पाकिस्तान सरकार मुझे गिरफ्तार करना चाहती है तो आए और करें, लेकिन मैं 2018 को कश्मीरियों के लिए समर्पित करना बंद नहीं करूंगा।’ आगे बोलते हुए सईद ने कहा कि, ‘अगर आपने हमें दबाने का प्रयास किया तो हम और मजबूत होकर उभरेंगे।’

सईद ने कहा, ‘अगर आप कश्मीर की स्वतंत्रता के लिये काम करने का संकल्प जताते हैं तो हम आपको शरीफ को फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिये प्रयास शुरू कर सकते हैं।’ सईद ने यह भी दावा किया कि अमेरिका और भारत के दबाव की वजह से ‘पाकिस्तान में हमारा मीडिया कवरेज प्रतिबंधित है।’

कौन है हाफिज सईद

पाकिस्तान में जमात-उद-दावा नाम का संगठन चलाने वाला हाफिज सईद एक आंतकी है। हाफिज सईद कई रैलियों में भारत और अमेरिका के खिलाफ जहर उगल चुका है। भारत में 26/11 मुंबई हमले का जिम्मेदार भी हाफिज सईद ही है। अपने अंदर नापाक चेहरा छिपाए हुए भी सईद पाकिस्तान की सड़को पर खुलेआम घुमता है, हालांकि अंतर्राष्ट्रीय दवाब बनने के बाद पाकिस्तान सरकार ने सईद को नजरबंद किया हुआ है। पाकिस्तान सरकार पर पहले से ही आरोप लगते रहे हैं कि वह हाफिज सईद को सुरक्षित करने का काम कर रही है।

मेरी नजरबंदी के पीछे भारत नहीं, पाक सरकार
इससे पहले जमात उद दावा के सरगना हाफिज सईद ने दो फरवरी को कहा था कि उसको हिरासत में लेने के पीछे भारत और अमेरिका नहीं, बल्कि पाकिस्तानी सरकार का हाथ था। सईद ने ‘नजरिया पाकिस्तान ट्रस्ट’ के कार्यकम में कहा, ‘‘मोदी सरकार नहीं, बल्कि हमारी अपनी पाकिस्तानी सरकार ने मुझे 10 महीने में हिरासत में रखा था। पाकिस्तान सरकार मुझे कश्मीर मुद्दा उठाने से रोकना चाहती थी.’ बता दे कि सईद ने पहले दावा किया था कि उसकी हिरासत के पीछे भारत और अमेरिका का हाथ है। सईद को पिछले साल नवंबर में नजरबंदी से रिहा किया गया था।

हाफिज सईद पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए : अमेरिका
अमेरिका ने बीते 18 जनवरी को कहा था कि जमात-उद-दावा (जेयूडी) प्रमुख हाफिज सईद पर ‘कानून की अंतिम सीमा तक’ मुकदमा चलाया जाना चाहिए, क्योंकि अमेरिका उसे एक आतंकवादी मानता है। हाफिज को मुंबई आतंकवादी हमले का मास्टरमांइड माना जाता है। अमेरिकी विदेश विभाग की प्रवक्ता हीदर नॉर्ट ने कहा था कि अमेरिका ने पाकिस्तान को सईद के खिलाफ कार्रवाई करने का संदेश भेजा है। जियो न्यूज को दिए गए साक्षात्कार में सईद के नाम में ‘साहब’ लगाते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खकान अब्बासी पहले ही सईद पर मुकदमा नहीं चलाने का फैसला कर चुके हैं। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान में उसके खिलाफ कोई मामला नहीं है।

व्हाइट हाउस पहले ही साफ कर चुका है कि यदि पाकिस्तान सईद को हिरासत में लेने व आरोप लगाने की कार्रवाई नहीं करता तो इसका अमेरिका-पाकिस्तान के संबंधों पर असर पड़ेगा। पाकिस्तानी अधिकारियों ने सईद को पिछले साल नवंबर में साक्ष्यों के अभाव में नजरबंदी से रिहा कर दिया था. अमेरिका ने मई 2008 में सईद को विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी घोषित किया था।

 

 

 

हमारी मुख्य खबरों के लिए यह क्लिक करे