अमेरिका की पूर्व प्रथम महिला मिशेल ओबामा ने अपनी जीवनी में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा अपने पति बराक ओबामा के खिलाफ ‘जन्मस्थान’ को लेकर झूठी बातें फैलाने के लिए निशाना साधा। हिल पत्रिका की रिपोर्ट के मुताबिक, अपनी जीवनी ‘बीकमिंग’ के अंश में मिशेल ओबाना ने कहा कि वह ट्रंप को उनके ‘जनोफोबिक’ दावे के लिए कभी माफ नहीं करेंगी।

ट्रंप ने दावा किया था कि उनके पति बराक ओबामा वास्तव में अमेरिका में नहीं पैदा हुए थे। पूर्व प्रथम महिला ने कहा, ‘यह पूरी चीज उन्मादी और मतलब की भावना से भरी हुई थीं। बेशक, इसमें कहीं न कहीं अंतर्निहित कट्टरता और जेनोफोबिया छुपा हुआ था।’ उन्होंने कहा, ‘क्या होता अगर कोई पागल व्यक्ति बंदूक लेकर वाशिंगटन में घुस जाता?

क्या होता अगर कोई व्यक्ति हमारी बच्चियों का पीछा करता? डोनाल्ड ट्रंप के तेज और लापरवाही भरे संकेतों ने मेरे परिवार की सुरक्षा को जोखिम में डाल दिया। और इसके लिए मैं उन्हें कभी माफ नहीं करूंगी।’ इस पुस्तक का अनावरण 13 नवंबर को किया जाएगा।