भारत ने क्योटो प्रोटोकॉल की दूसरी प्रतिबद्धता अवधि की पुष्टि की


संयुक्त राष्ट्र: भारत ने जलवायु परिवर्तन पर अपने रुख को फिर से दोहराते हुए क्योटो प्रोटोकॉल की दूसरी प्रतिबद्धता अवधि की पुष्टि की है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी दूत ने एक संक्षिप्त बयान में कहा कि भारत ने कल यहां जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के तहत क्योटो प्रोटोकॉल में दोहा संशोधन को स्वीकृति दे दी।

इसी के साथ भारत क्योटो प्रोटोकॉल की दूसरी प्रतिबद्धता अवधि से संबंधित संशोधन को स्वीकार करने वाला 80वां देश बन गया है। क्योटो प्रोटोकॉल अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्सर्जन में कमी लाने की संधि है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैय्यद अकबरुद्दीन ने ट्वीट कर कहा- जलवायु परिवर्तन पर रुख बरकरार है। भारत ने क्योटो प्रोटोकॉल में दोहा संशोधन को स्वीकृति दे दी है।

क्योटो प्रोटोकॉल को दिसंबर 1997 में जापान के क्योटो में स्वीकार किया गया था और यह फरवरी 2005 से लागू हुई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल ने अंतर्राष्ट्रीय संधि की दूसरी प्रतिबद्धता अवधि की पुष्टि को जनवरी में मंजूरी दी थी।