भारत के साथ सहयोग बढ़ने के लिए इस्राइल 6.86 करोड़ डॉलर का निवेश करेगा


येरुशलम : इस्राइल भारत के साथ सहयोग बढ़ने के लिए पर्यटन, प्रौद्योगिकी, कृषि और नवाचार जैसे क्षेत्रों में चार सालों में करीब 6.86 करोड़ डॉलर का निवेश करेगा। इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की अगले हफ्ते भारत यात्रा से पहले एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी।

इस्राइल के विदेश मंत्रालय के उप महानिदेशक, गिलाद कोहेन ने पीटीआई भाषा को बताया कि यह निवेश दोनों देशों के बीच चार करोड़ डॉलर के भारत-इस्राइल औद्योगिक अनुसंधान एवं विकास तथा तकनीकी नवोन्मेषण कोष की स्थापना के अतिरिक्त है। बेंजामिन नेतन्याहू की चार दिवसीय भारत यात्रा 14 जनवरी से शुरू हो रही है। वह इस्राइल से आने वाले उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे।

प्रतिनिधि मंडल में कृषि, जल, साइबर सुरक्षा, स्वास्थय सेवा और सुरक्षा क्षेत्र की 102 इस्राइल कंपनियों के 130 कारोबारी शामिल हैं। 15 साल के अंतराल में किसी इस्राइली प्रधानमंत्री की यह दूसरी भारत यात्रा है। इससे पहले 2003 में एरियल शारोन ने 2003 में भारत की यात्रा थी। नेतन्याहू की भारत यात्रा के दौरान तेल और गैस, नवीकरणीय रूर्जा, हवाई अड्डों के लिए संशोधित प्रोटोकॉल, साइबर सुरक्षा, फिल्म और वृथचित्र के सह-निर्माण सहित अन्य क्षेत्रों में दोनों के देशों के बीच समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर होंगे।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी के साथ।