JuD चीफ ने फिर उगला जहर, कहा – जो 70 साल में कश्मीर में नहीं हुआ, अब होगा


लाहौर : आतंकी संगठन जमात-उल-दावा के प्रमुख अब्दुल रहमान मक्की ने एक बार फिर भारत के खिलाफ जहर उगला है। इस बार भी उसने कश्‍मीर को लेकर बयान दिया है। मक्‍की ने मंगलवार को पाकिस्‍तान के लाहौर में एक जलसे को संबोधित करते हुए कहा कि ‘आज मुजाहिद खून देने के लिए खड़ा है। आजाद-ए-कश्मीर की तारीख को अंजाम तक पहुंचाने के लिए मुजाहिद खड़ा है। मक्की ने कहा 70 साल तक हम हिन्दुस्तान के साथ जो नहीं कर सके. अब जेहाद उस मसले का हल कर रहा है।

 

अपने भाषण में उसने कश्मीर के साथ-साथ पाकिस्तान सरकार का भी जिक्र किया। अब्दुल रहमान मक्की ने पाकिस्तान सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि, हमने हुक्मरानों से कहा था, जेहाद से पंगा मत लेना, जेहाद को अल्लाह चाहता है, जो जेहाद को रोकना चाहता है, अल्लाह उसको धक्का देता है।’ इस दौरान मक्की ने जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को बढ़ावा देने की खुलेआम अपील की। मक्की ने आगे कहा, आज मुजाहिद खड़ा है खून देने के लिए…आजाद -ए- कश्मीर की तारीख को अंजाम तक पहुंचाने में।

कौन है अब्दुल रहमान मक्की?

  • अब्दुल रहमान मक्की जमात-उल-दावा का चीफ है।
  • इससे पहले जमात-उल-दावा का चीफ हाफिज सईद था।
  • हाफिज सईद को भारत में मुंबई हमले का मास्टरमाइंड माना जाता है।
  • अब्दुल रहमान मक्की, हाफिज सईद का साला है।
  • मक्की के सिर पर संयुक्त राष्ट्रसंघ ने 20 लाख डॉलर का इनाम रखा है।
  • मक्की के तालिबान कमांडर मुल्ला उमर, अलकायदा के अल जवाहिरी से भी संबंध थे।

ब्रिक्स घोषणापत्र में आतंकवाद का जिक्र
बता दें कि ब्रिक्स सम्मेलन में पहली बार भारत ने चीन की मौजूदगी में पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद का नाम लेते हुए सभी सदस्य देशों से आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने की अपील की और इसे सम्मेलन के घोषणापत्र में भी शामिल किया गया।