अस्ताना में मिले मोदी और शरीफ, दोनों ने पूछा एक-दूसरे से हालचाल


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बीच कजाकिस्तान की राजधानी अस्ताना में शंघाई को-ऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) शिखर सम्मेलन के दौरान मुलाकात हुई, दोनों नेताओं ने एक-दूसरे का अभिवादन किया। 25 दिसंबर 2015 के बाद दोनों नेताओं की ये पहली मुलाकात है। इस बीच, नवाज की ओपन हार्ट सर्जरी भी हुई थी। मोदी ने नवाज से सेहत के बारे में पूछा। साथ ही, मां और परिवार का हाल जाना।

कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरवायेव की ओर से आयोजित स्वागत समारोह में मोदी, शरीफ, रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन और चीनी राष्ट्रपति शी चिपफिंग सहित अन्य शीर्ष नेताओं ने भाग लिया। भारत विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले का भी कहना है कि पीएम मोदी और नवाज शरीफ की मुलाकात के लिए न तो पाकिस्तान की ओर से अनुरोध किया गया है और न ही ऐसा कोई प्रस्ताव भारत ने किया है।

भारत एससीओ के क्षेत्रीय आतंकवाद रोधी ढांचा (रैट्स) से रक्षा-सुरक्षा सहयोग मजबूत करेगा। चीन के प्रभुत्व वाले इस संगठन में शामिल होने से भारत का एशिया में अहमियत बढ़ेगी और ऊर्जा समेत व्यापार के विभिन्न क्षेत्रों में समझौते आसान होंगे। रूस, ताजिकिस्तान, किर्गिस्तान और उज्बेकिस्तान भी संगठन के सदस्य हैं। इन मध्य एशियाई देशों के पास तेल और प्राकृतिक गैस का प्रचुर भंडार है और भारत इनका बड़ा उपभोक्ता है।

इससे पहले मोदी ने नूरसुल्तान नजयबायेब से मुलाकात की और द्विपक्षीय संबंधों को विस्तार देने के तरीकों पर चर्चा की। प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया कि कजाकिस्तान गणतंत्र के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और द्विपक्षीय संबंधों के विस्तार के तरीकों पर चर्चा की।

अपनी यात्रा से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, मैं एससीओ के साथ भारत के संबंध को और गहरा करने के लिए आगे देख रहा हूं जिससे हमें आर्थिक, संपर्क और आतंकवाद विरोधी सहयोग के साथ ही दूसरी चीजों में भी मदद मिलेगी।