छात्रा की मुत्यु नस्ली हिंसा नहीं बल्कि रोड रेज का नतीजा : पुलिस


वर्जीनिया : अमेरिकी पुलिस ने एक बयान में कहा कि अमेरिका के वर्जीनिया में संडे मॉर्निंग एक मस्जिद के समीप जिस मुस्लिम किशोरी की मौत हुई थी वह रोड़ रेज का नतीजा थी और इसमें नस्ली हिंसा का कोई मामला नहीं बनता है।

इस किशोरी पर संडे मॉर्निंग वाशिंगटन से 50 km वर्जीनिया के स्र्टलिंगमें एक मस्जिद के नजदीक  हमला हुआ था जब यह रमजान की नमाज में हिस्सा लेकर लौट रही थी। विशेष यह है कि पुलिस ने अभी तक उसकी मुत्यु का कोई स्पष्ट कारण नहीं बताया है लेकिन पुलिस यह जरूर बताया कि  मुस्लिम किशोरी की मौत मामले में 22 वर्षीय एक युवक डार्विल मारटिनेज टोरेस  को गिरफ्तार किया गया है और उसके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

पुलिस सूत्रों के हवाले से कल बताया कि मारटिनेज उस समय अपनी कार में था जब यह किशोरी अपने दोस्तों के साथ नमाज अदा करने के बाद मैकडोनाल्ड रेंस्टोरेंट से बाहर आ रही थी और इनका झगड़ा मारटिनेज से हुआ था।

सूत्रों ने कहा कि यह हादसा रोड रेज का नतीजा प्रतीत होता है और अब तक की जांच से पता चलता है कि इसमें नस्ली हिंसा का कोई भी पहलु उभर कर सामने नहीं आया है। पुलिस अधिकारियों ने इस लड़की का नाम नहीं बताया है लेकिन यह जानकारी दी है कि वह वर्जीनिया की रहने वाली थी।

इस बीच Newspaper Washington Post ने इस किशोरी का नाम नाबरा हसनैन बताया गया है और वह उस वक्त मुस्लिमों जैसे कपड़े पहने हुए थी जिससे यह आशंका व्यक्त की जा रही है कि शायद इसी वजह से उसे निशाना बनाया गया होगा।

पुलिस ने उस हादसे के 2 घंटे बाद ही मारटिनेज को संदिग्ध हालत में घूमते हुए गिरफ्तार कर लिया और इस किशोरी का शव एक तालाब से बरामद किया गया है। कोर्ट ने मारटिनेज को जमानत नहीं मिलने तक जेल में रखने का आदेश दिया है। उसे कल एक सरकारी वकील भी मुहैया कराया गया था।