उ.कोरिया ने फिर आंखे दिखाई, एक और मिसाइल का किया परीक्षण


सोल : उत्तर कोरिया ने आज एक बार फिर मिसाइल परीक्षण किया है। यह स्कड श्रेणी का कम दूरी तक मार करने वाला मिसाइल है। दक्षिण कोरिया की सेना ने यह जानकारी दी। दक्षिण कोरियाई सेना के संयुक्त चीफ्स ऑफ स्टाफ के कार्यालय से जारी बयान में कहा गया कि इस परीक्षण के बारे में को दक्षिणी कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन को सूचना तुरंत दे दी गयी जिन्होंने सुबह 7:30 बजे राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई है। बयान में कहा गया कि यह स्कड श्रेणी का बैलेस्टिक मिसाइल था जोकि साढ़े चार सौ किलोमीटर की दूरी तय कर जापान सागर में गिरा।

अमेरिका को कोई खतारा नही
अमेरिकी राष्ट्रपिित कार्यालय व्हाइट हाउस ने कहा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को इस परीक्षण के बारे में बता दिया गया है। अमेरिकी प्रशांत कमांड ने कहा कि उसने छ: मिनट तक मिसाइल को ट्रैक किया है, यह एक कम दूरी की बैलेस्टिक मिसाइल है जिससे उत्तरी अमेरिका को कोई खतारा नही है।

उकसावे वाली कार्रवाई रोकने के लिए जापान अन्य देशों के साथ मिलकर काम करेगा
जापानी प्रधान मंत्री शिंजो आबे ने कहा कि उत्तर कोरिया की बार-बार उकसावे वाली कार्रवाई से रोकने के लिए जापान अन्य देशों के साथ मिलकर काम करेगा। उन्होंने कहा,  “अमेरिका के साथ मिल कर हम उत्तर कोरिया के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।” श्री आबे ने कहा कि हाल ही में संपन्न हुये जी-7 शिखर सम्मेलन में भी उत्तर कोरिया का मुद्दा सबसे ऊपर था।

जापान के मुख्य कैबिनेट सचिव योशीधारी शुग ने कहा यह मिसाइल जापान के विशेष आर्थिक क्षेत्र गिरा है और जापान ने इस प्रक्षेपण का कड़े शब्दों में विरोध किया है। उन्होंने कहा, “उत्तर कोरिया द्वारा यह बैलेस्टिक मिसाइल परीक्षण संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का स्पष्ट उल्लंघन है। इस परीक्षण से क्षेत्र में नौवहन और विमान सुरक्षा को खतरा पैदा हो गया है।”

इस साल का उसका नौवां परीक्षण

अंतरराष्ट्रीय दबाव और कड़े प्रतिबंधों के बावजूद उत्तर कोरिया लगातार मिसाइल परीक्षण कर रहा है और ये इस साल का उसका नौवां परीक्षण है। इससे पहले उस ने 21 मई को पूर्वी तट से एक बैलीस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया था और कल देश के शासक किम जोंग उन की निगरानी में उसने विमान रोधी हथियार का परीक्षण किया।