उ.कोरिया ने अमेरिका को दिखाया ठेंगा, फिर किया बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण


सोल : उत्तर कोरिया ने अमेरिका की चेतावनी के बावजूद अपना मिसाइल परीक्षणों का सिलसिला जारी रखा। पूर्वी समुद्री तट पर पश्चिमी क्षेत्र से आज एक और बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया। दक्षिण कोरियाई सेना ने यह जानकारी दी। जर्मनी में इस सप्ताह के अंत में होने वाले जी-20 देशों के सम्मेलन से पहले इस मिसाइल का परीक्षण उत्तरी प्योंगयांग प्रांत से किया गया है।

उत्तर कोरिया ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चेतावनियों की अनदेखी : आबे

जापानी सरकार ने इस परीक्षण का कड़ा विरोध जताते हुए कहा कि यह मिसाइल जापान के एक्सक्लूजिव इकोनॉमिक जोन (ईईजेड) में उतरी है। उन्होंने कहा कि यह परीक्षण संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का स्पष्ट उल्लंघन है। जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि उत्तर कोरिया बार-बार अंतरराष्ट्रीय समुदाय की चेतावनियों की अनदेखी कर रहा है।

अंतरराष्ट्रीय समुदाय से एकजुटता दिखाने का आहवान

Source

उन्होंने कहा कि वह उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को रोकने के प्रयासों में और अधिक रचनात्मक भूमिका अदा करने के लिए चीन और रूस के राष्ट्रपतियों से बात करेंगे। श्री आबे ने पत्रकारों से कहा, “विश्व के नेता जी-20 सम्मेलन में इकट्टा होगे। मैं उत्तर कोरिया के मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय से एकजुटता दिखाने का आहवान करूंगा।”

उत्तर कोरिया का इस साल किया गया यह ज्ञारहवां परीक्षण है

Source

उत्तर कोरिया ने इससे पहले पिछले महीने कई मिसाइलों का परीक्षण किया था। यह उत्तर कोरिया का इस साल किया गया ज्ञारहवां परीक्षण है। इस बैलिस्टिक मिसाइल ने लगभग 930 किलोमीटर की ऊंचाई तक उड़ान भरी है। जर्मनी में 07 से 08 जुलाई तक जी-20 देशों का सम्मेलन होगा जिसमे अमेरिका,चीन,जापान और दक्षिण कोरिया के नेता उत्तर कोरिया के परमाणु और मिसाइल परीक्षण पर लगाम लगाने के प्रयासों पर चर्चा कर सकते है। उत्तर कोरिया का आज किया गया परीक्षण अमेरिका में चार जुलाई को स्वतंत्रता दिवस समारोह के मद्देनजर किया गया है। उत्तर कोरिया इससे पहले भी इस अमेरिकी अवकाश पर मिसाइलों का परीक्षण करता रहा है।

अब चीन उ.कोरिया के खिलाफ सख्त कदम उठायेगा : ट्रंप

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने उत्तर कोरिया के आज एक बैलिस्टिक मिसाइल के परीक्षण के कुछ घंटे बाद कहा कि संभवत: अब चीन उत्तर कोरिया के खिलाफ सख्त कदम उठायेगा। श्री ट्रम्प ने ट््वीटर पर कहा, “उम्मीद है कि चीन उत्तर कोरिया के खिलाफ अब कड़े कदम उठाकर इस तरह की बेतुकी कार्रवाई पर रोक लगाने का प्रयास करेगा।”

अमेरिका की चेतावनी के बावजूद किया बैलिस्टिक मिसाइल का प्रक्षेपण
उल्लेखनीय है कि उत्तर कोरिया ने अमेरिका की चेतावनी के बावजूद आज एक और बैलिस्टिक मिसाइल का प्रक्षेपण किया। श्री ट्रम्प ने रविवार को चीन और जापान के नेताओं से बातचीत की थी। ये दोनों देश उत्तर कोरिया के साथ चल रहे टकराव में महत्वपूर्ण क्षेत्रीय भूमिका रखते हैं। श्री ट्रंप ने बार-बार चीन को अपने प्रभाव का इस्तेमाल करके स्थिति नियंत्रित करने को कहा है।