न्यूयॉर्क के अटॉर्नी जनरल एरिक श्नाइडरमैन ने हॉलीवुड निर्माता हार्वे विंस्टीन, उनके भाई रॉबर्ट और दोनों भाइयों की कंपनी, द विंस्टीन कंपनी, के खिलाफ मुकदमा दायर किया है। इस कदम से निर्माता के फिल्म स्टूडियो के बिकने में दिक्कत हो सकती है। सीएनएन के मुताबिक, श्नाइडरमैन ने रविवार को कहा कि यौन उत्पीड़न माममे में चार महीने की जांच में ‘कंपनी के कर्मचारियों के साथ शातिर और शोषणपूर्ण दुर्व्यवहार करना पाया गया है।’

मैनहटन में राज्य सर्वोच्च न्यायालय में इलेक्ट्रानिक रूप से दायर मुकदमे में इस कृत्य को जघन्य बताते हुए कहा गया कि इससे राज्य, नागरिक और मानवाधिकार कानूनों का उल्लंघन हुआ है। हार्वे और रॉबर्ट विंस्टीन ने मार्च 2005 में इस कंपनी की सह-स्थापना की थी, जो हॉलीवुड के सबसे प्रभावशाली स्टूडियों में से एक माना जाता रहा है।

इसने ‘द किंग्स स्पीच’ और ‘सिल्वर लाइनिंग्स प्लेबुक’ जैसी फिल्मों का निर्माण किया। मुकदमे में दावा किया गया है कि यौन दुर्व्यवहार और अनुचित उद्देश्यों के लिए कॉरपोरेट संसाधनों के दुरुपयोग का सिलसिला 2005 में शुरू हुआ और अक्टूबर 2017 तक जारी रहा। समाचार पत्र न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मुकदमे के चलते कंपनी की बिक्री रुक गई, जिसे रविवार को अंतिम रूप देने की उम्मीद थी।

श्नाइडरमैन ने कहा, ‘विंस्टीन की कंपनी की किसी भी बिक्री से यह सुनिश्चित होना चाहिए कि पीड़ितों को मुआवजा दिया जाएगा, कर्मचारियों को आगे बढ़ने में संरक्षण दिया जाएगा और न तो मुजरिमों न समर्थकों को गलत तरीके से समृद्ध बनाया जाएगा। ‘समाचार पत्र ‘द न्यूयॉर्क टाइम्स’ और ‘द न्यूयॉर्कर’ पत्रिका द्वारा सबसे पहले आरोपों का खुलासा किए जाने के बाद से कंपनी दिवालियापन से बचने की कोशिश कर रही है।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।