पाकिस्तान ने ओआईसी बैठक में संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के समक्ष कश्मीर मुद्दे को उठाया


संयुक्त राष्ट्र : पाकिस्तान ने इस्लामी सहयोग संगठन (ओआईसी) की एक बैठक के दौरान संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस के समक्ष कश्मीर के मुद्दे को उठाया और भारत के साथ मिलकर शांतिपूर्ण समाधान निकाले जाने की अपील की। सूत्रों ने यह जानकारी दी।

संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी ने आईओसी के राजदूतों की संयुक्त राष्ट्र महासचिव के साथ सोमवार को संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में हुई एक घंटे चली बैठक के दौरान कश्मीर में कथित रूप से खराब होते हालात से निपटने की आवश्यकता को रेखांकित किया।

सूत्रों ने बताया कि मलीहा ने बैठक में कश्मीर मुद्दे के ”शांतिपूर्ण समाधान” की अपील करते हुए कहा कि बढ़ते तनाव से दक्षिण एशिया अस्थिर हो सकता है।

मलीहा ने कहा कि उपमहाद्वीप में एक अन्य संकट को टालने के लिए संयुक्त राष्ट्र एजेंडे में कश्मीर के पुराने मुद्दे और हर आईओसी विज्ञप्ति में शामिल किए जाने वाले इस मुद्दे का निपटारा किया जाना चाहिए।

इसके अलावा बैठक में फलस्तीन, इस्लाम को लेकर पूर्वाग्रह ऐर रोहिंज्ञा मुसलमानों के समक्ष पैदा हुई स्थिति पर भी चर्चा की गई। गुतारेस भारत एवं पाकिस्तान के बीच सीमा पर बढ़े तनाव के बीच कश्मीर में स्थिति पर निकटता से नजर रख रहे हैं लेकिन उन्होंने मुद्दे को सुलझाने के लिए कोई प्रत्यक्ष हस्तक्षेप नहीं किया है। उनके प्रवक्ता ने लगातार कहा है कि संयुक्त राष्ट्र प्रमुख भारत और पाकिस्तान से कश्मीर मुद्दे को सुलझाने के लिए वार्ता के जरिए शांतिपूर्ण समाधान तलाशने की अपील दोहराते हैं।

किसी प्रकार से भड़काए नहीं जाने के बावजूद पिछले सप्ताह पाकिस्तान द्वारा कश्मीर में दो भारतीय जवानों की हत्या किए जाने और उनके शवों को क्षत विक्षत किए जाने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ गया है।

गुतारेस के संयुक्त राष्ट्र प्रमुख के तौर पर कार्यभार संभालने के कुछ ही समय बाद इस साल जनवरी में मलीहा ने विदेश मामलों पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज के पत्र के साथ ही गुतारेस को पाकिस्तान में भारत के कथित ”हस्तक्षेप एवं आतंकवाद” को लेकर एक डोजियर दिया था।

भारत ने कश्मीर मुद्दे पर ”भ्रामक संदर्भ” देने को लेकर पिछले साल अक्तूबर में आईओसी की निंदा की थी और कहा था कि भारत के आंतरिक मामलों पर टिप्पणी का करने का समूह को कोई अधिकार नहीं है।

– भाषा