अमेरिका में फिर बड़ा संकट पैदा हो गया है। महज 3 हफ्ते के भीतर दूसरी बार शटडाउन (बंदी) की नौबत आ गई है। यह स्थिति कांग्रेस (संसद) में सरकारी खर्च से संबंधित बजट पारित नहीं होने से पैदा हुई है। यह बिल हालांकि ऊपरी सदन सीनेट से गुरुवार देर रात पारित हो गया, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। तकनीकी रूप से मध्य रात्रि के बाद शटडाउन फिर शुरू हो गया।

कानून निर्माताओं को उम्मीद थी कि अस्थायी संघीय बजट की मियाद पूरी होने से पहले नए खर्च बिल को मंजूरी मिल जाएगी। लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

इसी साल जनवरी की शुरुआत में तीन दिनों तक अमरीका में बंदी रही थी। सरकारी कामकाज फिर से चल सके, इसलिए तब एक अस्थायी बजट को अमरीका के दोनों सदनों में पास किया गया था। फ़ेडरल ऑफ़िस ऑफ़ पर्सनल मैनेजमेंट की ओर से जारी बयान में कहा गया, कर्मचारियों को अपनी ड्यूटी के संदर्भ में अपने दफ्तरों में संपर्क करना चाहिए।

सरकारी कामकाज फिर से चल सके, इसके लिए अमरीकी संसद के दोनों सदनों सीनेट और हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स से दो साल के नए बिल को पास किया जाना बेहद ज़रूरी है।

जानिए क्या है पूरा मामला !
अमेरिकी सांसदों को उम्मीद थी कि फेडरल फंडिंग एक्सरपायर होने से पहले ही खर्च संबंधी यह नया विधेयक पारित हो जाएगा। लेकिन रिपब्लिकन सीनेटर रैंज पॉल ने खर्च की सीमा में संशोधन पर बहस करने की मांग कर दी, जिसके बाद शटडाउन की स्थिति आ गई। फेडरल फंडिग को एक्सपायर होने से पहले ही पास कराना जरूरी होता है। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि इसे कांग्रेस के दोनों सदनों, प्रतिनिधि सभा और सीनेट से पारित कराना जरूरी होता है।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी  के साथ।