कंसास में छात्रों, प्रोफेसरों को कॉलेज में बंदूक लेकर आने की अनुमति मिली


शिकागो : अमेरिका के कंसास राज्य में छात्रों और प्रोफेसरों को कॉलेज परिसरों में छिपाकर रखी जाने वाली छोटी बंदूकों के लेकर आने की कानूनी तौर पर अनुमति दी जाएगी। छिपाकर रखने वाली छोटी बंदूकों वाला यह कानून चार साल पहले सभी सार्वजनिक इमारतों में लागू किया गया था लेकिन इस राज्य में कॉलेजों को इस वर्ष जुलाई तक इस कानून के दायरे से बाहर रखा गया था।

कंसास अब अरकंसास, जॉर्जिया और अन्य राज्यों की सूची में शामिल हुआ
देश में संभावित हमलावरों से कैम्पस में सुरक्षा के मुद्दे से निपटने के लिए राज्य संसद के प्रयासों की श्रृंखला में यह कानून ताजा मामला है। कुछ मामलों में बंदूक रखने को लेकर कानून कड़े किए गए है जबकि अन्य मामलों में बंदूकों तक पहुंच को और अधिक आसान बनाया जा रहा है ताकि बंदूक से हिंसा करने के संभावित मामलों में लोग अपनी रक्षा कर सकें। कंसास अब अरकंसास, जॉर्जिया और अन्य राज्यों की सूची में शामिल हो गया है जिन्होंने छात्रों और फैकल्टी को कॉलेज परिसरों में बंदूक लेकर आने की अनुमति दे रखी है। कैलिफोर्निया और साऊथ कैलिफोर्निया उन 16 राज्यों में से है जिन्होंने इस पर प्रतिबंध लगा रखा है।

कॉलेज में बंदूक लेकर आने की अनुमति पर कुछ प्रोफेसरों ने जताई चिंता
कॉलेज में बंदूक लेकर आने की अनुमति देने पर कुछ प्रोफेसरों ने चिंता जताई है। कंसास स्टेट यूनिवर्सिटी में अंग्रेजी के प्रोफेसर फिलिप नेल ने कहा, “मैं किसी दूसरी नौकरी की तलाश कर रहा हूं। मैं बंदूक लेकर आने वाले छात्रों को नहीं पढ़ा पाऊंगा क्योंकि यह पागलपन है।”