सिख-अमेरिकी को पीटने वाले दो लोगों को तीन साल की कैद


न्यूयार्क : अमेरिका की एक अदालत ने दो लोगों को पिछले साल एक सिख-अमेरिकी को निर्मम तरीके से पीटने के लिए घृणा अपराध का दोषी ठहराया और तीन साल कैद की सजा सुनाई। पिछले साल हुई मारपीट की यह घटना कैलिफोर्निया की है। चेज लिटिल और कोल्टन लेबलैंक को मारपीट और घृणा अपराध के आरोपों में दोषी पाया गया। उन्हें कैलिफोर्निया राज्य की जेल में तीन साल कैद की सजा सुनाई गई। इन दोनों ने मान सिंह खालसा नामक व्यक्ति पर हमला बोला था।

खालसा एक सिख-अमेरिकी हैं और आईटी विशेषज्ञ हैं। पिछले साल सितंबर में कैलिफोर्निया में रिचमंड बे इलाके में उनके साथ निर्मम तरीके से मारपीट की गई थी। हमलावरों ने खालसा को रास्ते में रोक लिया था। इसके बाद हमलावर अपने ट्रक से निकलकर आए और उनके चेहरे पर बार-बार वार किया। हमलावरों ने उनकी पगड़ी खोल दी और उनके बढ़ाए हुए केश चाकू से काट डाले थे।

अदालत में अपने बयान के दौरान हमलावरों की पहचान कर लेने वाले खालसा ने कहा, ”इस हमले को घृणा अपराध, मेरे और मेरे पूरे समुदाय के सम्मान को पहुंचाई गई क्षति के रूप में मान्यता दिया जाना इस प्रक्रिया की दिशा में पहला कदम है।” सिखों के अधिकारों के लिए काम करने वाले समूह सिख कोएलिशन की ओर से जारी एक बयान के अनुसार उन्होंने कहा, ”मैं अब भी आपको अपना भाई मानता हूंं और उम्मीद करता हूं कि आप मेरे और मेरे समुदाय के बारे में जानेंगे। एक दिन आप भी मुझे अपना भाई मानेंगे।”

(भाषा)