बिना दस्तावेज वाले कुछ प्रवासियों को नागरिकता देने को राजी ट्रंप 


वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आज कहा कि यदि उन्हें मेक्सिको के साथ लगने वाली देश की सीमा पर दीवार बनाने के लिए कांग्रेस से अनुदान को मंजूरी मिलती है तो वह बिना दस्तावेज वाले कुछ प्रवासियों को नागरिकता देने के रास्ते को अपनाने के लिए तैयार हैं। ट्रंप ने दावोस में विश्व आर्थिक मंच में शामिल होने के लिए स्विट्जरलैंड जाने से पहले व्हाइट हाउस में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘ऐसा भविष्य में किसी समय, 10 से 12 साल में होगा।’’

उन्होंने इसे प्रवासियों की कड़ी मेहनत के लिए ‘‘प्रोत्साहन’’ करार देते हुए कहा, ‘‘उनसे कहिए कि उन्हें चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है।’’ इससे अमेरिका में नाबालिग उम्र में आए बिना दस्तावेज वाले करीब 6,90,000 प्रवासियों को लाभ होने की उम्मीद है। इनमें हजारों प्रवासी भारतीय मूल के हैं। हालांकि एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने बाद में कहा कि इस मामले पर अभी कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है। ट्रंप को मेक्सिको के साथ लगती देश की सीमा पर दीवार बनाने के लिए 20 अरब डॉलर और अन्य सीमा सुरक्षा उपायों के लिए पांच अरब डॉलर की आवश्यकता है।

ट्रंप ने कहा कि दीवार के लिए अनुदान को मंजूरी नहीं मिलने पर ‘डेफर्ड एक्शन फॉर चाइल्डहुड अराइवल्स’ (डीएसीए) पर कोई समझौता नहीं हो सकता। उन्होंने कहा, ‘‘यदि दीवार नहीं तो डीएसीए नहीं।’’ ट्रंप ने कहा, ‘‘हम संभवत: 800 मील लंबी दीवार की बात कर रहे हैं। यह दीवार निवेश पर सबसे अच्छा लाभ साबित होगी।’’ उन्होंने कहा कि इससे अरबों डॉलर की बचत होगी।

 

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।