अफगानिस्तान में कल स्कूलों और नागरिक क्षेत्रों को निशाना बनाकर किए गए तालिबानी आतंकवादियों के हमले की संयुक्त राष्ट्र ने कड़ निंदा की है। इन हमलों में स्कूली बच्चों को भी निशाना बनाया गया था। नंगरहार प्रांत की राजधानी जलालाबाद में मंगलवार को 15 मिनट के अंतराल पर तीन स्कूलों को निशाना बनाया गया और इनमें एक स्कूली छात्र की मौत हो गयी तथा कई अन्य घायल हो गए।

एक अन्य स्कूल के बाहर लगाए गए शक्तिशाली विस्फोटक को सुरक्षा बलों ने नाकाम कर दिया। यहां कई बम हमलों में कम से कम 21 लोग मारे गए और 60 से अधिक घायल हो गए थे। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने इन हमलों की निंदा करते हुए कहा कि संगठन अफगानिस्तान सरकार तथा वहां के लोगों के साथ है क्योंकि वह भी शांति के पक्ष में है।

संयुक्त राष्ट्र सहायता मिशन अफगानिस्तान (यूएनएएमए) के विशेष प्रतिनिधि तादामिची यामामोतो ने इन हमलों पर प्रतिक्रिया करते हुए कहा कि उन हमलों में हताहत लोगों के परिजनों के साथ हमारी संवेदनाएं हैं। उन्होंने इन हमलों की निंदा करते हुए कहा,’ स्कूलों तथा नागरिक क्षेत्रों में बम विस्फोट की घटनाएं आतंकवाद के काफी घिनौने और डरावने कृत्य हैं जिनमें स्कूली बच्चों को भी नहीं बख्शा गया है। ये अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानूनों के खिलाफ हैं।’ जितेन्द्र.श्रवण रायटर नननन