अमेरिका ने उत्तर कोरिया से जारी तनाव के बीच उसके खिलाफ बेहद कड़े कदम उठाने की बात कही है। बुधवार को अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने कहा कि जल्दी ही उत्तर कोरिया के खिलाफ अब तक के सबसे कड़े और अत्यंत आक्रामक प्रतिबंधों का ऐलान किया जाएगा। साथ ही पेंस ने कहा कि प्योंग्यांग के शासन को आगामी ओलंपिक में हावी होने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

उत्तर कोरिया में शीतकालीन ओलंपिक के उद्घाटन समारोह में शामिल होने से पहले जापान में बोलते हुए पेंस ने कहा कि तोक्यो के साथ काम करते हुए अमेरिका उत्तर कोरिया पर अधिकतम दबाव बनाने के अपने अभियान को और तेज करेगा।

पेंस ने कहा, ‘‘मैं आज घोषणा करता हूं कि अमेरिका बहुत जल्द उत्तर कोरिया पर सबसे कड़े और सबसे आक्रामक आर्थिक प्रतिबंधों का ऐलान करेगा।’’

पेंस का यह तीन दिवसीय दौरा क्षेत्र में अपने सहयोगी जापान के साथ संबंधों को मजबूत करने और उत्तर कोरियाई शासन पर दबाव बनाने के मद्देनजर है। हालांकि प्रायद्वीप के रवैये में हाल में कुछ नरमी देखी गई है।

पेंस ने कहा, ‘‘सभी विकल्प मौजूद हैं और हमारी गृहभूमि तथा हमारे सहयोगियों की रक्षा के लिए अमेरिका ने हमारे कुछ अत्याधुनिक सैन्य उपकरणों को जापान तथा विस्तृत क्षेत्र में तैनात किया है।’’

वहीं, जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने कहा कि जापान और अमेरिका पुष्टि करते हैं कि वे कभी भी परमाणु हथियारों से लैस उत्तर कोरिया को स्वीकार नहीं करेंगे।

आबे ने यह भी कहा कि दोनों सहयोगी देश दूसरे देशों से अपील करते हैं कि वे उत्तर कोरिया के आक्रामक रवैये से प्रभावित न हों। पेंस ने उद्घाटन समारोह में शामिल हो रहे उत्तर कोरियाई प्रतिनिधिमंडल के साथ किसी भी तरह की बैठक की बात से इंकार किया।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।