अमेरिका करेगा मिसाइल रोधी प्रणाली का परीक्षण


वाशिंगटन : अमेरिका जल्द ही बैलिस्टिक मिसाइल रोधी प्रणाली थाड का परीक्षण करेगा। इससे कुछ दिन पहले उत्तर कोरिया ने अमेरिकी राज्य अलास्का तक मार करने वाली मिसाइल का परीक्षण किया था। टर्मिनल हाई एल्टीट्यूट एरिया डिफेंस (थाड) प्रणाली अपनी अंतिम चरण की उड़ान के दौरान छोटी और मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइलों को रोकने और नष्ट करने में सक्षम है। अमेरिका की मिसाइल डिफेंस एजेंसी ने कल बताया कि अलास्का के कोडियाक में पैसिफिक स्पेसपोर्ट कॉम्प्लैक्स से एक बैलिस्टिक मिसाइल को निशाना बनाकर यह परीक्षण किया जाएगा।

एमडीए ने एक बयान में कहा, “थाड जुलाई के शुरुआती दिनों में थाड इंटरसेप्टर रॉकेट के साथ लक्ष्य का पता लगाएगा और उसे अपने निशाने पर लेगा।” ऐसे परीक्षणों की योजना कई महीने पहले ही बना ली जाती है लेकिन यह परीक्षण ऐसे समय में हो रहा है जब उत्तर कोरिया ने मंगलवार को अलास्का समेत अमेरिका के कई हिस्सों तक मार करने में सक्षम अंतरमहाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का पहली बार प्रायोगिक परीक्षण किया था।

थाड आईसीबीएम मिसाइल को रोकने में सक्षम नहीं है। यह काम जमीन आधारित मिडकोर्स डिफेंस (जीएमडी) इंटरसेप्टर प्रणाली पर छोड़ दिया गया है। अमेरिकी सेना ने इस वर्ष की शुरुआत में दक्षिण कोरिया में थाड को तैनात करना शुरू कर दिया था और उसके इस कदम से चीन नाराज हो गया था। चीन का कहना है कि इस तैनाती से कोरियाई प्रायद्वीप में स्थिति और अस्थिर होगी। अमेरिकी थाड बैटरियों को गुआम और हवाई में भी लगाया गया है जो उत्तर कोरिया से आ रही मध्यम दूरी की मिसाइल को रोकने में सक्षम हैं।