BREAKING NEWS

नगालैंड गोलीबारी केस में सेना ने नगारिकों की नहीं पहचान, शवों को ‘छिपाने’ का किया प्रयास ◾विवाद के बाद गेरुआ से फिर सफेद हो रही वाराणसी की मस्जिद, मुस्लिम समुदाय ने लगाए थे तानाशाही के आरोप ◾लोकसभा में बोले राहुल-मेरे पास मृतक किसानों की लिस्ट......, मुआवजा दे सरकार◾प्रधानमंत्री मोदी ने सांसदों को दी कड़ी नसीहत-बच्चों को बार-बार टोका जाए तो उन्हें भी अच्छा नहीं लगता ...◾Winter Session: निलंबन वापसी के मुद्दे पर राज्यसभा में जारी गतिरोध, शून्यकाल और प्रश्नकाल हुआ बाधित ◾12 निलंबित सदस्यों को लेकर विपक्ष का समर्थन,संसद परिसर में दिया धरना, राज्यसभा की कार्यवाही स्थगित ◾JNU में फिर सुलगी नए विवाद की चिंगारी, छात्रसंघ ने की बाबरी मस्जिद दोबारा बनाने की मांग, निकाला मार्च ◾भारत में होने जा रहा कोरोना की तीसरी लहर का आगाज? ओमीक्रॉन के खतरे के बीच मुंबई लौटे 109 यात्री लापता ◾देश में आखिर कब थमेगा कोरोना महामारी का कहर, पिछले 24 घंटे में संक्रमण के इतने नए मामलों की हुई पुष्टि ◾लोकसभा में न्यायाधीशों के वेतन में संशोधन की मांग वाले विधेयक पर होगी चर्चा, कई दस्तावेज भी होंगे पेश ◾PM मोदी के वाराणसी दौरे से पहले 'गेरुआ' रंग में रंगी गई मस्जिद, मुस्लिम समुदाय में नाराजगी◾ओमीक्रॉन के बढ़ते खतरे के बीच दिल्ली फिर हो जाएगी लॉकडाउन की शिकार? जानें क्या है सरकार की तैयारी ◾यूपी : सपा और रालोद प्रमुख की आज मेरठ में संयुक्त रैली, सीट बटवारें को लेकर कर सकते है घोषणा ◾दिल्ली में वायु गुणवत्ता 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज, प्रदूषण को कम करने के लिए किया जा रहा है पानी का छिड़काव ◾विश्व में वैक्सीनेशन के बावजूद बढ़ रहे है कोरोना के आंकड़े, मरीजों की संख्या हुई इतनी ◾सदस्यीय समिति को अभी तक सरकार से नहीं हुई कोई सूचना प्राप्त,आगे की रणनीति के लिए आज किसान करेंगे बैठक ◾ पीएम मोदी आज गोरखपुर को 9600 करोड़ रूपये की देंगे सौगात, खाद कारखाना और AIIMS का करेंगे लोकार्पण◾रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने भारत को एक बहुत बड़ी शक्ति, वक्त की कसौटी पर खरा उतरा मित्र बताया◾पंजाब के मुख्यमंत्री ने पाकिस्तान के साथ सीमा व्यापार खोलने की वकालत की◾महाराष्ट्र में आए ओमिक्रॉन के 2 और नए केस, जानिए अब कितनी हैं देश में नए वैरिएंट की कुल संख्या◾

बिहार : डिप्टी सीएम सुशील कुमार बोले- कोरोना संक्रमितों लोगों पर तंज करना शिष्टाचार के विरुद्ध

बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने हाल में प्रदेश भाजपा कार्यालय में लोगों के कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आने पर प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव की टिप्पणी को शिष्टाचार के विरुद्ध बताया है। सुशील ने बृहस्पतिवार को कहा कि कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से कोई भी व्यक्ति या परिसर संक्रमित हो सकता है।

उन्होंने सवाल किया कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री जानसन, प्रिंस चार्ल्स, बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सभापति और राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तक कोरोना ग्रस्त हुए। क्या इन लोगों पर तंज कसा जाना चाहिए? सुशील ने कहा कि तमाम एहतियात बरतने पर भी यदि राजभवन, पटना उच्च न्यायालय और प्रदेश भाजपा कार्यालय में आने-जाने वाले लोग संक्रमण से नहीं बच पाये, तो क्या इनकी तुलना विदेशी जमातियों से की जाएगी?

उन्होंने तेजस्वी पर प्रहार करते हुए आरोप लगाया कि राजद के युवा नेतृत्व ने सामाजिक शिष्टाचार सीखा होता, तो कोई प्रधानमंत्री की चमड़ी उधेड़ने जैसे बयान न देता। गौरतलब है कि लालू के दूसरे पुत्र तेजप्रताप ने पूर्व में कहा था कि यदि उनके पिता को कुछ हुआ तो प्रधानमंत्री मोदी उसके जिम्मेदार होंगे और उनकी ‘‘चमड़ी उधेड़ देंगे‘।’’

तेजस्वी ने भाजपा के प्रदेश कार्यालय में 24 पार्टी पदाधिकारियों और अन्य कर्मियों के कोरोना वायरस संक्रमित पाए जाने पर गत 14 जुलाई को ट्वीट कर कटाक्ष किया था,‘‘ये सत्ताधारी ना जाने कौन सी जमात के है लोग हैं।’’ उन्होंने 15 जुलाई को ट्वीट कर भाजपा के लोगों पर संक्रमण फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘‘बिहार भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष समेत कई बड़े नेता संक्रमित हैं।

इनके ऐसे ''नाकारा'' स्वास्थ्य मंत्री हैं कि अपने अपनी पार्टी कार्यालय को ही कोरोना से नहीं बचा पाए तो बिहार और आम आदमी को क्या बचाएँगे?’’ राजद नेता तेजस्वी ने कहा था, ''प्रदेशवासियों से आग्रह है संक्रमण फैलाने वाले इन विशेष जमातियों से दूर रह स्वयं, परिवार और राज्य को सुरक्षित रखें।''

सुशील ने राजद प्रमुख पर प्रहार करते हुए आरोप लगाया, ''लालू प्रसाद को स्वास्थ्य सेवा के प्रति उत्साह जगाने वाला यह विकास नहीं, केवल ठेले पर अस्पताल जाता डाक्टर दिखता है।’’ उल्लेखनीय है कि चारा घोटाला मामले में रांची में सजा काट रहे लालू ने अपने ट्वीटर हैंडल पर बिहार की एक तस्वीर साझा करते हुए कहा था, 15 वर्षों का सुशासन कथित विकास के प्रचार के बोझ तले इतना दब गया है कि कर्तव्यपरायण डॉक्टर साहब को ठेले में लद कर कोविड केयर सेंटर जाना पड़ता है।

सुशासनी कोविड केयर को खुद केयर की सख़्त ज़रूरत है। विज्ञापन का हज़ारों करोड़ मूलभूत सुविधाओं में लगाते तो यह नहीं देखना पड़ता ना?'' इस पर पलटवार करते हुए सुशील ने राजद चुनाव चिन्ह का जिक्र किया और लालू पर कटाक्ष करते हुए कहा, '' लालटेन की रोशनी में कोई ज्यादा दूर तक देख भी कैसे सकता है?''