BREAKING NEWS

CM केजरीवाल बोले- प्रदूषण का स्तर कम हुआ, अब Odd-Even योजना की कोई आवश्यकता नहीं है ◾संसद का शीतकालीन सत्र LIVE : अब्दुल्ला की हिरासत के मुद्दे पर लोकसभा में विपक्ष का हंगामा, कांग्रेस ने किया वाकआउट ◾महाराष्ट्र: शिवसेना संग गठबंधन पर शरद पवार का यू-टर्न, दिया ये बयान◾ JNU स्टूडेंट्स का संसद तक मार्च शुरू, छात्रों ने तोड़ा बैरिकेड, पुलिस की 10 कंपनियां तैनात◾शीतकालीन सत्र: NDA से अलग होते ही शिवसेना ने दिखाए तेवर, संसद में किसानों के मुद्दे पर किया प्रदर्शन◾शीतकालीन सत्र: चिदंबरम ने कांग्रेस से कहा- मोदी सरकार को अर्थव्यवस्था पर करें बेनकाब◾ PM मोदी ने शीतकालीन सत्र शुरू होने से पहले सभी दलों से सहयोग की उम्मीद जताई ◾संजय राउत ने ट्वीट कर BJP पर साधा निशाना, कहा- '...उसको अपने खुदा होने पर इतना यकीं था'◾देश के 47वें CJI बने जस्टिस बोबडे, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दिलाई शपथ◾राजस्थान के श्री डूंगरगढ़ के पास बस और ट्रक की भीषण टक्कर, 10 लोगों की मौत◾मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का जन्मदिन आज, PM मोदी ने दी बधाई◾संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू, नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर घमासान के आसार◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾UP में मुआवजे के लिए किसानों का प्रदर्शन हुआ उग्र ◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾अयोध्या फैसले पर बोले यशवंत सिन्हा- इस फैसले में कुछ खामियां हैं, लेकिन हमें आगे बढ़ने की जरूरत◾UEA के नागरिकों को अब भारत आने पर सीधे मिलेगा वीजा◾महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾

बिहार

बिहार : भूजल संरक्षण को लेकर सरकार ने कसी कमर, नया कानून बनाने पर विचार

बिहार सरकार ने इस साल गर्मी के मौसम में उत्पन्न पेयजल की समस्या से सीख लेते हुए राज्य में जल संरक्षण को लेकर कमर कस ली है। सरकार सभी सरकारी भवनों में जल संरक्षण का इंतजाम करने की योजना बना रही है तथा लोगों को पानी की बरबादी नहीं करने को लेकर जागरूक भी कर रही है। सरकार इस संबंध में नया कानून भी लाने पर विचार कर रही है। 

बिहार के लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण मंत्री विनोद कुमार झा ने बुधवार को बताया कि सरकार भूजल संरक्षण को लेकर नया कानून लाने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि पानी का दुरुपयोग रोकने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक, नए कानून के तहत पानी के उपयोग को नियंत्रित करने के लिए जल संरक्षण प्राधिकार की स्थापना की जाएगी, जो भूगर्भ जलस्तर के उपयोग को नियंत्रण करेगा। 

सरकार कानून को लागू करने के पूर्व अधिकारियों और आम लोगों से भी रायशुमारी बनाने की कोशिश करेगी। इधर, सरकार ने सरकारी भवनों में भी एक साल के अंदर जल संरक्षण का इंतजाम करने का निर्देश भवन निर्माण विभाग को दिया है। 

उल्लेखनीय है कि भूगर्भ जलस्तर में आई गिरावट को लेकर मुख्य सचिव ने विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की थी, जिसमें जल संरक्षण करने का निर्देश दिया गया था। इस संबंध में भवन निर्मण विभाग के सभी अभियंताओं को पत्र लिखकर निर्देश दिया गया है। सूत्रों का कहना है कि हाल में बनाए गए सरकारी भवनों में जल संरक्षण के उपाय किए गए हैं, परंतु पुराने सरकारी भवनों में ऐसी व्यवस्था नहीं है।