BREAKING NEWS

74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से सातवीं बार पीएम मोदी का संबोधन, जानें बड़ी बातें◾कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग के नियम के साथ आयोजित हुआ स्वतंत्रता दिवस समारोह◾लाल किले की प्राचीर से प्रधानमंत्री का आत्मनिर्भर भारत, लोकल के लिये वोकल का संकल्प लेने का आह्वान ◾74वें स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने ‘नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन’ शुरू करने की घोषणा की ◾स्वाधीनता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री ने ‘राष्ट्रीय इंफ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन परियोजना’ की घोषणा की ◾74वें स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी का नया नारा - मेक इन इंडिया के साथ मेक फार वर्ल्ड ◾लाल किले की प्राचीर से बोले पीएम : संप्रभुता पर आंख उठाने वालों को देश, सेना ने उन्हीं की भाषा में जवाब दिया◾130 करोड़ देशवासियों की संकल्प शक्ति से कोरोना वायरस को हराएगा भारत: पीएम मोदी ◾स्वतंत्रता दिवस के मौके पर दिल्ली सरकार के होंगे 7 खास मेहमान◾चीन को भारत की खरी खरी कहा- सीमा पर बने हालात से तय होगा रिश्तों का भविष्य◾महाराष्ट्र में कोरोना का प्रकोप जारी, 12 हजार से अधिक नए मामले की पुस्टि, 364 लोगों की मौत ◾देश में अशांति पैदा करने वालों को माकूल जवाब देंगे : राष्ट्रपति ◾स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्रपति ने कोरोना के खिलाफ लड़ाई में केंद्र और राज्य सरकारों की तारीफ की◾कांग्रेस ने सुरजेवाला ने कहा- राजस्थान का ‘विश्वासमत’ प्रजातंत्र के लिए नई रोशनी लेकर आया है◾चीन से तनातनी के बीच बोले रक्षामंत्री - अगर दुश्मन हम पर हमला करता है तो मुंहतोड़ जवाब देंगे◾विधानसभा कार्यवाही के बाद बोले पायलट-पहले मैं सरकार का हिस्सा था, लेकिन अब नहीं◾गृहमंत्री अमित शाह ने कोरोना को दी मात, कोविड टेस्ट रिपोर्ट आई निगेटिव ◾गहलोत सरकार ने हासिल किया विश्वास मत, 21 अगस्त तक के लिए विधानसभा स्थगित◾राजस्थान विधानसभा में सरकार के बचाव में खड़े हुए सचिन पायलट, खुद को बताया सबसे मजबूत योद्धा◾कोर्ट की अवमानना मामले में वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण दोषी करार◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बिहार : विपक्ष की रणनीति में एकरूपता की कमी से मिल सकती है NDA को बढ़त

बिहार में लोकसभा चुनावों के दौरान मिली हार से अभी तक नहीं उबर पाया विपक्ष ऐसा लगता है कि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव की रणनीति को लेकर भी कई विचारों में उलझ गया है। विपक्ष को अगले साल मजबूत राजग (एनडीए) का सामना करना है। 

वरिष्ठ राजद (आरजेडी) नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने शुक्रवार को एक बार फिर आह्वान किया कि सभी क्षेत्रीय दलों का महागठबंधन में विलय होना चाहिए। हालांकि इस विचार से उनकी अपनी पार्टी में ही बहुत कम लोग सहमत हैं। 

अपेक्षाकृत छोटे दल हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा, “विलय एक अच्छा विचार है। अगर राजद और दूसरे घटक हम में विलय के लिए तैयार होते हैं, तो हम स्वागत करेंगे।” 

उल्लेखनीय है कि 'हम' के संस्थापक अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी कह चुके हैं कि अगर उनकी मांग नहीं मानी गई तो वह महागठबंधन छोड़ देंगे। 

मांझी की मांग है कि महागठबंधन चुनाव जीतता है तो बनने वाली सरकार में मुख्यमंत्री के अलावा दो उप मुख्यमंत्री बनाए जाने चाहिए और ये पद अति पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति और अल्पसंख्यक वर्ग से एक-एक उम्मीदवारों को दिए जाएं। 

अगर मांझी के फार्मूले को मान लिया जाए तो लालू प्रसाद के छोटे बेटे तेजस्वी यादव या उनके परिवार के किसी भी अन्य सदस्य के लिए सरकार का नेतृत्व करने के रास्ते बंद हो जाएंगे। लालू प्रसाद का परिवार बिहार की एक शक्तिशाली पिछड़ी जाति से है जिसका पिछले तीन दशक से बिहार की राजनीति पर वर्चस्व रहा है। 

आरएलएसपी नेता और राजग के पुराने साथी उपेंद्र कुशवाहा ने एक दूसरा विचार सामने रखा कि महागठबंधन का दायरा बढ़ाकर इसमें वाम दलों को भी शामिल करना चाहिए। राज्य में कांग्रेस के प्रभारी शक्तिसिंह गोहिल ने सैद्धान्तिक रूप से कुशवाहा के प्रस्ताव से सहमति जताई है। 

वाम दलों, जिन्हें राज्य में अब गुजरे जमाने की ताकत माना जाता है, उन्होंने इस प्रस्ताव में बहुत कम दिलचस्पी दिखाई है। कांग्रेस विधायक प्रेम चंद्र मिश्रा ने कहा है कि महागठबंधन में अलग-अलग तरह की बातों से सिर्फ एनडीए को ही फायदा होगा।