BREAKING NEWS

ममता का मोदी को पत्र, कहा- सरकार कोविड रोधी टीकों के विनिर्माण के लिए जमीन और मदद उपलब्ध कराने को तैयार◾दिल्ली में कोरोना के 13,287 नए मामले सामने आए, 300 लोगों की मौत, संक्रमण दर में गिरावट जारी◾उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना ने ली 329 लोगों की जान, 18125 नए मरीजों की पुष्टि◾अब भारत में बनेंगी लंबे समय तक चलने वाली बैटरी, 18 हजार करोड़ के PLI इंसेंटिव को मंजूरी◾कांग्रेस ने केंद्र को बताया आपदा में अवसर वाली सरकार, कहा- चिकित्सा उपकरणों से हटाई जाए GST◾BJP का पलटवार- वैक्सीन को लेकर लगातार भ्रम उत्पन्न करने की कोशिश कर रहा है विपक्ष ◾देश में लगातार दूसरे दिन उपचाराधीन मरीजों की संख्या में आई कमी, 71.22 प्रतिशत मामले 10 राज्यों में आए सामने◾44 देशों में मिला कोरोना का इंडियन वैरिएंट, WHO ने कहा- वायरस का यह स्वरूप है खतरनाक ◾कांग्रेस का सरकार पर कटाक्ष, कहा- चुनाव के बाद विकास 100 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल के साथ वापस आ गया◾क्या ऐसे होगी कोरोना पर जीत? PM केअर्स फंड से फरीदकोट भेजे गए वेंटिलेटर्स में से अधिकतर खराब◾भारत बायोटेक ने दिल्ली को कोवैक्सीन देने से किया इनकार, कई केंद्र करने पड़े बंद- सिसोदिया◾राहुल और प्रियंका का केंद्र पर वार- रेत में सिर डालना सकारात्मकता नहीं, देशवासियों के साथ है धोखा◾इमरान खान का कश्मीर राग बरकरार, कहा- जब तक निर्णय वापस नहीं होगा, भारत से वार्ता नहीं करेगा पाकिस्तान◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में साढ़े 3 लाख से कम मामलों की पुष्टि, 4205 लोगों ने गंवाई जान ◾कोरोना वायरस : 2 से 18 साल के बच्चों पर वैक्सीन के ट्रायल की भारत बायोटेक को मिली मंजूरी ◾गुजरात : कोरोना देखभाल केंद्र में लगी आग, 61 मरीजों को दूसरे अस्पतालों में किया गया शिफ्ट ◾उत्तर प्रदेश : एएमयू में अब तक 26 प्रोफेसरों की कोरोना से मौत, कोविड के वैरिएंट की होगी जांच◾पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश, तूफान से 8 लोगों की मौत ◾टीकरी बॉर्डर के आंदोलन स्थल पर रेप के मामले में NCW ने योगेंद्र यादव और उग्रहन को भेजा नोटिस ◾गुजरात में कोरोना का कहर जारी, सरकार ने 36 शहरों में रात्रि कर्फ्यू और अन्य प्रतिबंध 18 मई तक बढ़ाए◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जलवायु परिवर्तन का गरीबों, महिलाओं और कृषि पर सर्वाधिक असर : सुशील

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने जलवायु परिवर्तन के संभावित खतरे के प्रति चिंता व्यक्त करते हुये आज कहा कि इसका सर्वाधिक असर गरीबों, महिलाओं और कृषि क्षेत्र पर पड़ रहा है। 

श्री मोदी ने यहां बिहार विधानमंडल के सेंट्रल हॉल में आयोजित ‘राज्य में जलवायु परिवर्तन से उत्पन्न आपदाजनक स्थिति पर विमर्श’ के लिए आयोजित बैठक में कहा कि जलवायु परिवर्तन का सर्वाधिक असर गरीबों, महिलाओं और कृषि क्षेत्र पर पड़ रहा है। 

उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार के निर्देश पर जलवायु परिवर्तन के मद्देनजर राज्य कार्ययोजना तैयार की जा रही है, जिससे 10 विभाग कृषि, मत्स्य संसाधन, जल संसाधन, आपदा प्रबंधन, नगर विकास, परिवहन, ऊर्जा, स्वास्थ्य, उद्योग और खनन सम्बद्ध हैं। बिहार में पर्यावरण एवं वन विभाग का नाम पहले ही बदल कर ‘ पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन ’ विभाग कर दिया गया है। 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के ‘जल शक्ति अभियान’ के तहत बिहार के 12 जिलों के 30 प्रखंड को शामिल किया गया था, जिसका मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर राज्य के सभी 38 जिलों में विस्तार कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पहले ही सभी जलह्मोतों को चिन्हित और उनकी पहचान कर उनके पुनर्स्थापन और उड़ही का निर्णय लिया है। 

श्री मोदी ने कहा कि बिहार में 01 से 15 अगस्त 2019 के बीच ‘वन महोत्सव’ का आयोजन कर सघन पौधारोपण के तहत 1.75 करोड़ पौधे लगाए जायेंगे। इस दौरान ग्रामीण विकास विभाग महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत 50 लाख और वन विभाग अपनी विभिन्न योजनाओं के तहत 1.25 करोड़ पौधारोपण करेगा। जितने भी पौधे लगाए जायेंगे वे चार फुट लम्बे और दो वर्ष पुराने होंगे। 

शहरी क्षेत्रों में गैबियन के बीच पौधे लगाए जायेंगे तथा बाद में भी उनकी देखरेख एवं पानी देने की व्यवस्था की जायेगी। 

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि वन विभाग ने निर्णय लिया है कि सड़क एवं अन्य निर्माण के दौरान अब कोई पेड़ काटा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि राजधानी पटना के सगुना मोड़ के पास एक एजेंसी के माध्यम से पेड़ के प्रत्यारोपण का प्रयोग किया जा रहा है।