BREAKING NEWS

आप नेता सुनीता, उमेद और अनवर भाजपा में शामिल◾बैंक धोखाधड़ी : हीरा कारोबारी के 13 ठिकानों पर सीबीआई छापे◾केजरीवाल के नामांकन पत्र दाखिले में चुनाव आयोग ने जानबूझकर विलंब नहीं किया : दिल्ली निर्वाचन कार्यालय◾केजरीवाल के पास कुल 3.4 करोड़ रुपये की संपत्ति, 2015 से 1.3 करोड़ रुपये बढ़त◾दावोस में डोनाल्ड ट्रंप से मिले इमरान , अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- कश्मीर पर करीबी नजर◾टुकड़े-टुकड़े गैंग का अस्तित्व है और वह सरकार चला रहा है : थरूर◾गणतंत्र दिवस : 23 जनवरी को परेड रिहर्सल, दिल्ली पुलिस ने जारी की सूचना, ये मार्ग रहेंगे बंद, यहां से जाना होगा !◾ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो शुक्रवार को चार दिवसीय यात्रा पर आएंगे भारत◾दिल्ली को सर्दी से मिली फौरी तौर पर राहत, उत्तर प्रदेश और हरियाणा में अभी भी शीत लहर ◾भारत कठिन दौर से गुजर रहा है, नीचे बनी रहेगी आर्थिक वृद्धि दर : अर्थशास्त्री◾अदालत ने आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव कर चिकित्सा, चुनावी कारणों से दिल्ली आने की इजाजत दी◾अमित शाह की रैली में शरणार्थियों का छलका दर्द◾जम्मू कश्मीर के लोगों से उनकी समस्याओं के बारे में सुनना चाहता है केंद्र : नकवी ◾छह घंटे के इंतजार के बाद केजरीवाल ने नामांकन पत्र किया दाखिल◾TOP 20 NEWS 21 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾बेटियों के खिलाफ FIRदर्ज होने पर मुनव्वर राना बोले- मुझ पर दर्ज करो मुकदमा, मैंने ऐसी बागी बेटियां पैदा की◾कोर्ट ने चंद्रशेखर आजाद की जमानत शर्तों में बदलाव कर चिकित्सा, चुनावी कारणों से दिल्ली आने की इजाजत दी◾कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने CAA पर PM मोदी और अमित शाह को बहस की चुनौती दी◾लखनऊ में बोले अमित शाह- जिसे विरोध करना हो करे, मगर सीएए वापस नहीं होने वाला◾पेरियार पर की गई टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगूंगा : रजनीकांत ◾

CM नीतीश कुमार बोले- शिक्षकों के लिए जो संभव होगा हम करेंगे

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने नियोजित शिक्षकों के आंदोलन करने पर गुरूवार को कहा कि वह लोकतंत्र में विश्वास रखते हैं। इसलिए उनके (नीतीश के) खिलाफ जितना नारे लगाना है लगाएं, लेकिन आपके (शिक्षकों के) लाभ के लिए जो भी संभव होगा हम करेंगे। 

नियोजित शिक्षक स्थायी करने की मांग वाली याचिका को हाल में उच्चतम न्यायालय द्वारा खारिज करने के बाद आंदोलन कर रहे हैं। शिक्षक दिवस के मौके पर पटना के एसके मेमोरियल हाल में आयोजित उन्नयन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नीतीश ने नियोजित शिक्षकों के आंदोलन करने पर कहा 'मेरे खिलाफ जितना नारा लगाना है लगाईए मुझे कोई एतराज नहीं । हम तो लोकतंत्र में विश्वास करते हैं और अगर कोई विरोध में भी नारे लगाता है तो उसके प्रति मेरे मन में कोई तकलीफ नहीं। लोकतंत्र में तो सबकों आजादी है। हम आलोचनाओं की चिंता नहीं करते अपना काम करते रहते हैं'। 

उन्होंने कहा कि हमारा तो समर्पण लोगों के प्रति है और उनकी सेवा करना ही हमारा धर्म है । नीतीश ने शिक्षकों से कहा 'हमें एक ही बात की तकलीफ होगी जब आप छात्र-छात्राओं को मन से नहीं पढाएंगे । हमारी एक ही इच्छा है कि आप छात्र—छात्राओं को खूब मन और अच्छे ढंग से पढाएं और आपको जो मांग करनी है कीजिए। मेरा हृदय उदार है। हमसे जितना संभव होगा करते रहेंगे'। 

नीतीश ने नियोजित शिक्षकों से कहा 'आपके मन में क्या है उन बातों में हम नहीं पडना चाहते । कहां कहां नहीं गए । क्या फैसला आ गया माननीय सर्वोच्च न्यायालय का यह भी जान लीजिए । देश के नामी वकीलों ने सर्वोच्च न्यायालय में बहस की। अपनी बात जरूर रखनी चाहिए, पर फैसला आ गया है। शिक्षक दिवस पर इतना ही कहना चाहते हैं कि सारी बातें अपनी जगह पर लेकिन आगे भी हम ख्याल रखेंगे। 

उन्होंने आंदोलनरत शिक्षकों से कहा कि उनके मन में जो आए वे करें, मुझे कोई एतराज नहीं है लेकिन चिंता मत करिएगा, आपके लाभ के लिए जो भी करेंगे हमलोग ही करेंगे। 

कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने कहा कि नियोजित शिक्षकों की मांग को उच्चतम न्यायालय द्वारा खारिज कर दिए जाने के बाद हम क्या कर सकते हैं। कुछ करते हैं जो उच्चतम न्यायालय के आदेश की अवहेलना हो जाएगी। ऐसे में उन्हें सरकार से वार्ता करनी चाहिए। टकराव का महौल बनाकर हम राज्य का विकास नहीं कर सकते ।