BREAKING NEWS

दिल्ली में कोरोना के 412 नये मामले आए सामने, मृतक संख्या 288 हुई ◾LAC पर चीन से बिगड़ते हालात को लेकर PM मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग, NSA, CDS और तीनों सेना प्रमुख हुए शामिल◾महाराष्ट्र : उद्धव सरकार पर भड़के रेल मंत्री पीयूष गोयल, कहा- राज्य में सरकार नाम की कोई चीज नहीं◾महाराष्ट्र : फडणवीस की CM ठाकरे को नसीहत, कहा- कोरोना से निपटने में मजबूत नेतृत्व का करें प्रदर्शन ◾दिल्ली से अब तक करीब 2.41 लाख लोगों को 196 ट्रेनों से उनके गृह राज्य वापस भेजा : सिसोदिया◾स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- ढील दिए जाने के बाद 5 राज्यों में बढ़े कोरोना मामले◾राजनाथ सिंह ने CDS और तीनों सेना प्रमुखों के साथ की बैठक, सड़क का निर्माण कार्य रहेगा जारी ◾राहुल गांधी के वार पर BJP का पलटवार, नकवी ने कांग्रेस को बताया राजनीतिक पाखंड की प्रयोगशाला◾चीन और नेपाल से जुड़े मुद्दों पर पारदर्शिता की जरूरत, केंद्र को करना चाहिए स्पष्ट : राहुल गांधी◾कोविड-19 : दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 412 लोगों में संक्रमण की पुष्टि, पॉजिटिव मामलों की संख्या हुई 14 हजार 465◾बिहार बोर्ड 10वीं कक्षा का रिजल्ट जारी, 96.20 प्रतिशत अंक के साथ टॉपर बने हिमांशु राज◾राहुल गांधी ने लॉकडाउन को बताया विफल, बोले-आगे की रणनीति बताएं प्रधानमंत्री ◾तबलीगी जमात मामले में दिल्ली पुलिस ने 83 विदेशी नागरिकों के खिलाफ दाखिल की चार्जशीट◾उद्धव ठाकरे और शरद पवार की मुलाकात पर बोले राउत-सरकार मजबूत, चिंता करने की जरूरत नहीं◾कोरोना वैक्सीन को लेकर अच्छी खबर, US कंपनी ने 131 लोगों पर शुरू किया ह्यूमन ट्रायल◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर पर लगा भयंकर जाम, सिर्फ पास वालों को मिल रही है जाने की इजाजत◾World Corona : दुनियाभर में महामारी का खौफ जारी, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 55 लाख के करीब ◾पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 45 हजार के पार, अब तक 4167 लोगों ने गंवाई जान ◾दिल्ली : तुगलकाबाद गांव की झुग्गियों में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंची दमकल की 30 गाड़ियां ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बिहार में केवल लोकसभा चुनाव के लिए बना था महागठबंधन : प्रेमचंद्र

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बिहार में विधान परिषद के सदस्य प्रेमचंद्र मिश्रा ने आज कहा कि राज्य में केवल लोकसभा चुनाव के लिए महागठबंधन का गठन हुआ था और अब वर्ष 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव के पूर्व समान विचारधारा वाले दलों का नया गठबंधन आकार लेगा। 

श्री मिश्रा ने यहां कहा कि इस वर्ष संपन्न हुये लोकसभा चुनाव के लिए बिहार में महागठबंधन बना था, जिसमें कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद), हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम), राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) और विकासशील इंसान पार्टी (वीआईपी) शामिल थी। उन्होंने कहा कि यह महागठबंधन सिर्फ लोकसभा चुनाव के लिए ही बना था और अब इसके सभी घटक दल अपने अनुसार राजनीतिक गतिविधियां चलाने के लिए स्वतंत्र हैं। 

श्री मिश्रा ने कहा, ‘‘बिहार में वर्ष 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पूर्व समान विचारधारा वाले दल मिलकर एक नया गठबंधन बना सकते हैं। बिहार में अब महागठबंधन अस्तित्व में नहीं है।’’ इससे पूर्व हम के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने अभी हाल ही में वर्ष 2020 का बिहार विधानसभा चुनाव अपने दम पर लड़ने की घोषणा करते हुए कहा था कि महागठबंधन और राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) दोनों ने ही उनकी पार्टी को अब तक ठगा है।

श्री मांझी ने कहा था कि पार्टी के गठन के बाद से अबतक हुए चुनाव में वह जिस भी गठबंधन में रहे उन्हें ठगा ही गया है। जब पार्टी राजग के साथ थी तब वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में भी उन्हें ठगा गया। इसके बाद वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में महागठबंधन में भी उनकी पार्टी को उतनी सीट नहीं दी गई जितनी की वह हकदार थी। उन्होंने कहा कि पार्टी के अधिकांश नेताओं का मानना है कि पार्टी को स्वतंत्र पहचान के लिए अपने दम पर ही चुनाव लड़ना चाहिए। 

हम के अध्यक्ष ने कहा, ‘‘पार्टी जब अपने दम पर चुनाव लड़गी तभी पता चलेगा कि उसका कितना वोट है।’’ उन्होंने कहा कि इस बार के लोकसभा चुनाव में उनकी पार्टी को तालमेल के तहत महागठबंधन ने तीन सीट दी थी लेकिन सही मायने में तीन में से सिर्फ एक सीट पर उनकी पार्टी का उम्मीदवार था शेष दो सीटों में से एक पर कांग्रेस और एक पर राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के प्रत्याशी को हम की टिकट से चुनाव लड़या गया। इससे पार्टी कार्यकर्ताओं में काफी नाराजगी थी। 

वहीं, लोकसभा चुनाव का परिणाम में राजद का बिहार में खाता तक नहीं खुलने के बाद से चुनाव की कमान संभालने वाले पार्टी नेता तेजस्वी प्रसाद यादव राजनीतिक गतिविधियों में नहीं दिख रहे हैं। वह इस बार बिहार विधानमंडल के मॉनसून सत्र के दौरान केवल दो दिन ही सदन की कार्यवाही में उपस्थिति रहे। इसको लेकर भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने उनका मजाक भी उड़या था। 

इस बीच राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव के लोकसभा चुनाव के बाद से राजनीतिक गतिविधियों में शामिल नहीं रहने को लेकर कहा था कि यह श्री यादव के करियर के लिए ठीक नहीं है। उन्हें अपने पिता एवं राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की तरह ही चुनौतियों का सामना करना चाहिए।